‘जिन्ना’ बताए जाने पर भड़के ओवैसी ने संबित पात्रा को बताया ‘बच्चा’, बोले- ‘बच्चों के बाप से है हमारा मुकाबला, जब बड़े बात करते हैं तो टांय-टांय नहीं करना चाहिए’

0

वर्ष 1975 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए आपातकाल के विरोध में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) आज और कल (25 और 26 जून) को पूरे देश में काला दिवस मना रही है। इस दौरान बीजेपी देशभर के सभी बड़े शहरों में एक संवाददाता सम्मेलन के जरिए कांग्रेस की घेराबंदी कर रही है। साथ ही बीजेपी के वरिष्ठ नेता अलग-अलग जगह विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा में वाक-युद्ध छिड़ गया है। एक तरफ जहां, संबित पात्रा ने ओवैसी को ‘जिन्ना’ तो ओवैसी ने पात्रा को ‘बच्चा’ तक कह डाला है।

दरअसल ओवैसी ने आपातकाल के विरोध में देशभर में काला दिवस मनाने को लेकर बीजेपी पर तीखा हमला बोला है।उन्होंने आपातकाल समेत कई घटनाओं का जिक्र करते हुए उन्हें धरती हिला देने वाली घटना बताया। उन्होंने कहा, ‘किसी को आपातकाल, महात्मा गांधी की हत्या, बाबरी मस्जिद विध्वंस, 1984 के सिख दंगे और गुजरात में 2002 में जो हुआ उसे भूलना नहीं चाहिए।’

वहीं, बीजेपी नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने ओवैसी की तुलना जिन्ना से कर दी। पात्रा ने ओवैसी पर हमला बोलते हुए कहा कि आज के राजनीतिक संदर्भ में उन्हें यह कहने से गुरेज नहीं है कि ओवैसी ‘नए जिन्ना’ हैं। बीजेपी नेता ने कहा, ‘आज के राजनीतिक परिदृश्य में मुझे यह कहने में कतई गुरेज नहीं है कि ओवैसी नए जिन्ना हैं। मुस्लिमों को बहकाकर उन्हें मुख्यधारा से दूर ले जाने की तरकीब खतरनाक है।’

जिसके बाद संबित पात्रा के इस बयान पर असदुद्दीन ओवैसी ने करारा पलटवार किया। पात्रा के इस बयान पर तंज कसते हुए ओवैसी ने कहा, ‘अरे संबित बच्चा है, बच्चों के बारे में नहीं बोलते। बच्चों के बाप से मुकाबला है हमारा। जब बड़े बात करते हैं तो बच्चों को टांय-टांय नहीं करना चाहिए।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here