अर्नब गोस्वामी के चैनल रिपब्लिक टीवी ने मुस्लिम भावनाओं को आहत करने के लिए बिना शर्त मांगी माफी, मुकेश अंबानी के CNN- न्यूज 18 पर भी लगा इस्लाम को अपमानित करने का गंभीर आरोप

0

अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी ने रविवार को एक फर्जी खबर के जरिए मुसलमानों की भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाने के बाद एक माफीनामा जारी किया। गोस्वामी के चैनल द्वारा असाधारण माफी के बाद मुस्लिम समूहों ने मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली CNN-News18 पर भी आरोप लगाया कि वे दुनिया के सबसे पवित्रतम तीन स्थलों पर एस्प्रेसिंग कास्टिंग करके इस्लाम का अपमान किया है।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल बोर्ड ने पत्र जारी किया, जिसमें कहा गया है कि रिपब्लिक टीवी चैनल पर जमात-ए-इस्लामी इंडिया के प्रमुख मौलाना जलालुद्दीन उमरी पर आतंकवादी होने का झूठा आरोप लगाया गया। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सहित कई मुस्लिम समूहों ने चैनल को पत्र लिखकर चैनल के इस कृत्य की निंदा की और तत्काल माफी की मांग की। AIMPLB के पत्र में CNN-News18 की भी निंदा की गई है। CNN-News18 पर आरोप है कि चैनल ने मुस्लिमों के तीन सबसे पवित्र धर्म स्थलों को जैश प्रमुख मसूद अजहर के आतंक का फैक्ट्री बताया गया था।

अपने पत्र को ट्विटर पर शेयर करते हुए AIMPLB ने लिखा कि हम मौलाना जलालुद्दीन उमरी पर आतंकी होने का झूठे आरोप लगाने के लिए रिपब्लिक टीवी चैनल की कड़ी निंदा करते हैं। साथ ही हम CNNnews18 की भी निंदा करते हैं। इसने मक्का, मदीना और क़ुद्स में मदीज़ (सिक) के खिलाफ भ्रामक खबर चलाई है। दोनों चैनलों को माफी मांगनी चाहिए।

अपनी फर्जी रिपोर्टिंग को लेकर आलोचनाओं में घिरे रिपब्लिक टीवी ने आखिरकार मुसलमानों की भावनाओं को आहत करने के लिए एक माफीनामा जारी की है। चैनल ने माफी मांगते हुए अपने ट्वीट में लिखा है कि मौलाना सैयद जलालुद्दीन उमरी की गलत तस्वीर रिपब्लिक टीवी पर चलाया गया। यह एक अनजाने में त्रुटि थी, वीडियो संपादक ने संबंधित तस्वीर को गलत तरीके से प्रसारित किया था, जिसे गलत तरीके से एक बार प्रसारित किया गया था और तुरंत ठीक कर दिया गया था। अपने ट्वीट में चैनल ने लिखा कि रिपब्लिक टीवी बिना शर्त मौलाना सैयद जलालुद्दीन उमरी से माफी मांगता है।

फिलहाल, ऐसा प्रतीत होता है कि रिपब्लिक टीवी ने अपनी वेबसाइट से विवादास्पद वीडियो को हटा दिया है और कश्मीर में जमात-ए-इस्लामी पर सरकार की कार्रवाई के बारे में अपनी रिपोर्ट को स्पष्ट रूप से अपडेट किया है कि घाटी में संगठन का जमात-ए-इस्लामी इंडिया से कोई संबंध नहीं है। वहीं, मुकेश अंबानी के रिलायंस ग्रुप के स्वामित्व वाले चैनल CNN-News18 पर भी गंभीर आरोप लगे हैं, क्योंकि AIMPLB ने दुनिया भर में मुसलमानों की भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया है।

शनिवार को अपने प्रसारण में चैनल ने पुलवामा आतंकी हमले के पीछे के व्यक्ति जैश प्रमुख मसूद अजहर की संपत्ति के विवरण का खुलासा करने का दावा किया। बहावलपुर में JeM की आतंकी फैक्ट्री के सुर्खियों के साथ चैनल ने मक्का में ग्रैंड मस्जिद, मदीना की मस्जिद और अल-अक्सा की तस्वीरें दिखाते हुए कहा कि वे अजहर की आतंकी फैक्ट्री का हिस्सा थे। बता दें कि इन मस्जिदों को दुनिया भर के मुसलमानों के लिए तीन सबसे पवित्र स्थल माना जाता है।

AIMPLB ने अपने पत्र में CNN-News18 पर जानबूझकर इस्लाम को बदनाम करने और मुसलमानों को भड़काने का आरोप लगाया है। हालांकि, चैनल ने अभी तक दुनिया भर में मुसलमानों को आहत करने वाले भड़काऊ प्रसारण के लिए माफी नहीं मांगी है। इस्लाम के सबसे पवित्र स्थलों को चैनल ने आतंकवाद से जोड़ने की कोशिश की है। सोशल मीडिया पर चैनल की तीखी आलोचना हो रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here