BJP के राज्यसभा सांसद के शेयरों को वापस खरीदने के बाद पत्रकार से एक ‘चतुर व्यापारी’ में तब्दील हुए अर्नब गोस्वामी

0

अर्नब गोस्वामी ने अपने चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ ने लॉन्चिंग की दूसरी वर्षगांठ पर एक ‘चतुर व्यापारी’ वाला कदम उठाया है। दरअसल, 6 मई 2017 को रिपब्लिक टीवी की शुरुआत करने के महज दो साल बाद अर्नब गोस्वामी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर के स्वामित्व वाली इसकी निवेशक कंपनी ‘एशियानेट न्यूज मीडिया एंड एंटरटेनमेंट’ से शेयर वापस खरीद लिए हैं। इसके बाद अब यह कंपनी पूरी तरह से ‘रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क’ में तब्दील होने की ओर अग्रसर है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने कहना है कि गोस्वामी ने एक पत्रकार से अब एक चतुर व्यापारी में तब्दील हो गए हैं। अब उनके संपादकीय में बीजेपी का कोई प्रभाव नहीं होगा, क्योंकि उन्होंने चंद्रशेखर से अपने शेयर वापस खरीद लिए हैं। रिपब्लिक टीवी का दावा है कि अब यह पूरी तरह से संपादक-नियंत्रित कंपनी होगी, क्योंकि यह कंपनी अब ‘रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क’ के अधीन होगी।

दरअसल, चंद्रशेखर द्वारा चैनल में किए गए निवेश की वजह से गोस्वामी खुद को हमेशा असहज महसूस कर रहे थे, उनके आलोचक उनपर बीजेपी समर्थक होने का आरोप लगा रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस समझौते के बाद ‘रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क’ अब पूरी तरह से संपादक के नियंत्रण वाली कंपनी बनने की राह पर है। बीजेपी सांसद की कंपनी ‘एशियानेट न्यूज मीडिया’ जैसे निवेशक से शेयर खरीदने के बाद अब रिपब्लिक टीवी का नियंत्रण पूरी तरह से अर्नब के हाथों में होगा।

इस बारे में बीजेपी सांसद राजीव चंद्रशेखर ने एक बयान में कहा कि रिपब्लिक और अर्नब की सफलता से मैं बहुत खुश हूं। मुझे इस बात की भी बहुत खुशी है कि एक मजबूत मीडिया टेक प्लेटफॉर्म के निर्माण में मैं अपना सहयोग दे सका। इसमें निवेश करना काफी सफल रहा। अर्नब गोस्वामी द्वारा कुछ शेयरों को खरीदने के बाद भी एशियानेट न्यूज मीडिया छोटे निवेशक के रूप में ‘रिपब्लिक’ को समर्थन करना जारी रखेगा। रिपोर्ट के अनुसार, महज दो वर्षों में रिपब्लिक टीवी की कीमत 1,200 करोड़ रुपए आंकी गई है।

अर्नब ने बीजेपी के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर की कंपनी ‘एशियानेट न्यूज मीडिया’ की मदद से बड़े ही धमाके के साथ 6 मई 2017 को अपने नए इंग्लिश चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ को लॉन्च किया था, जिसके बाद से ही वह लगातार विवादों में हैं। चंद्रशेखर द्वारा किए गए निवेश की वजह से गोस्वामी को उनके आलोचक बीजेपी समर्थक करार देते हैं। हालांकि इस बीच लोगों ने इतने कम समय में अपनी असाधारण सफलता के लिए रिपब्लिक टीवी के संस्थापक की सराहना की है। गौरतलब है कि अभी हाल ही में गोस्वामी ने फरवरी 2019 में अपना हिंदी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक भारत’ भी लॉन्च किया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here