सेना के जवानों के वीडियो वायरल होने के बाद के बाद सेना प्रमुख बिपिन रावत ने जारी किए निर्देश

0

जवानों के लगातार वीडियो आने के बाद अब सेना प्रमुख बिपिन रावन ने निर्देश जारी करते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर शिकायत जारी करने की जगह अपनी परेशानी सीधे मुझ तक पहुंचाएं।

बिपिन रावत

सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने इस बाबत कमांड हेडक्वॉर्टर पर शिकायत के बक्से रखने का निर्देश दिया है. रावत ने जवानों से कहा कि अपनी किसी भी प्रकार की शिकायत को शिकायत पेटी में ही डालें और सेना के नेतृत्व पर भरोसा रखें।

आपको बता दे कि लांस नायक यज्ञ प्रताप सिंह की बीवी ने आरोप लगाए थे कि कल शाम से यज्ञ प्रताप सिंह का मोबाइल ले लिया गया है। उन्होंने मुझसे किसी दूसरे के मोबाइल से बात की है। जबकि अपने वीडियो में यज्ञ प्रताप ने आरोप लगाया है कि मुझे इतना टार्चर किया गया कि आम सैनिक होता तो आत्महत्या कर लेता।

देहरादून में तैनात यज्ञ प्रताप सिंह का आरोप था कि  सैनिक से कपड़े धुलवाना, बूट पॉलिश करवाना, कुत्ते घुमवाना जैसे काम करवाना गलत है।

लगातार एक के बाद एक सेना के जवानों वीडियो सामने आने से उन परेशानियों का पता चल रहा है जिन्हे देश की सेना के बहादुर जवान झेलते है। अपनी पीड़ा का इजहार करते हुए ये सभी जवान पीएम मोदी से गुहार लगाते नज़र आ रहे है कि इनकी समस्याओं पर भी देश की सरकार ध्यान दे।

इस पत्र के लिखे जाने की बात बाद में जब सेना के अधिकारियों को पता चली तो जवान यज्ञ प्रताप सिंह को काफी डांटा-फटकारा गया। इसके बाद जवान यज्ञ प्रताप सिंह को लग रहा है कि अब उनका इस मामले पर कोर्ट मार्शल भी हो सकता है। यज्ञ प्रताप के अनुसार सेना में कई जगहों पर एक सैनिक से कपड़े धुलवानाए बूट पॉलिश करवानाए कुत्ते घुमवाना जैसे काम करवाना गलत है।  यज्ञ प्रताप ने सीधे प्रधानमंत्री से अनुनोध करते हुए कहा है कि वे इस मामले में दखल दें क्योंकि उसने पत्र लिखकर कोई गलत काम नहीं किया है।

जबकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बीच सेना की ओर से इस वीडियो पर जवाब आया है। जिसमें सेना ने एक बयान जारी कर कहा है कि इतनी बड़ी फौज में किसी एक सैनिक की ऐसी शिकायत को हम ऐसे ही खारिज नहीं कर सकते। सेना में ऐसी शिकायतों के निबटारे का एक सिस्टम है और उसी के तहत इस जवान की शिकायत को भी देखा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here