गुजरात चुनाव: अल्पेश ठाकुर का बड़ा एलान, 23 अक्टूबर को होंगे कांग्रेस में शामिल

0

गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस को रणनीतिक रूप से बड़ा फायदा होता दिखाई दे रहा है। राज्य में ओबीसी वर्ग के युवा नेता अल्पेश ठाकोर ने कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान कर दिया है। ठाकुर ने इस बात का एलान कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गाँधी से मुलाक़ात के बाद किया।

शनिवार (21 अक्टूबर) को अल्पेश ठाकुर ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वह 23 अक्टूबर को कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे। इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस नेता अशोक गहलोत और भरत सिंह सोलंकी भी मौजूद थे।

ठाकुर ने कहा कि 23 अक्टूबर को गुजरात में एक रैली के दौरान वो अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे। उनके अनुसार राहुल गाँधी भी उस रैली में शामिल होंगे।

ठाकुर के साथ गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी और असेंबली चुनाव में पार्टी के इन-चार्ज अशोक गेहलोत भी राहुल गाँधी के साथ मुलाक़ात में मौजूद थे।

ठाकुर का कांग्रेस में शामिल होने का एलान सोलंकी के उस आह्वान के कुछ ही घंटों के बाद ही आया है जिन में उन्होंने ठाकुर सहित, जिग्नेश मेवानी और हार्दिक पटेल से एक साथ भाजपा का मुक़ाबला करने की बात की थी।

इसी बीच सूत्रों ने जनता का रिपोर्टर से बताया कि मेवानी भी जल्द ही कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अल्पेश अपने साथ-साथ पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और दलित नेता जिग्नेश मेवानी के भी साथ आने का दावा कर रहे हैं। बता दें कि इससे पहले गुजरात कांग्रेस ने इन तीनों युवा नेताओं से कांग्रेस को समर्थन देने की अपील की थी। अलग-अलग मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हार्दिक और जिग्नेश, दोनों ही बीजेपी को हराने वालों का साथ देने की बात कह चुके हैं।

मुलाकात के दौरान अल्पेश ने राहुल गांधी को गुजरात में 23 अक्टूबर को होने वाली ‘जनादेश सम्मेलन’ में शामिल होने का निमंत्रण दिया। अल्पेश के मुताबिक कांग्रेस उपाध्यक्ष ने रैली में आने पर हामी भर दी है। राहुल गांधी से मुलाकात के बाद अल्पेश ने कहा है कि राहुल गांधी 23 अक्टूबर को हमारी रैली में शामिल होने के लिए आएंगे और उसी दिन मैं कांग्रेस में शामिल हो जाऊंगा।

अल्पेश के कांग्रेस में जाने के ऐलान को कांग्रेस की बड़ी रणनीतिक जीत मानी जा रही है। बीजेपी सूत्रों के मुताबिक बीजेपी आलाकमान भी परदे के पीछे से अल्पेश को साधने में जुटी थी। लेकिन अल्पेश की बाजी कांग्रेस ने मार ली है। जानकारों का कहना है कि अल्पेश के इस ऐलान से उत्तर गुजरात और सौराष्ट्र में ओबीसी बहुल वाली विधानसभा सीटों पर कांग्रेस को फायदा हो सकता है।

दरअसल, काग्रेस की पूरी कोशिश बीजेपी के खिलाफ चले आंदोलन और उसके चेहरे को अपने पाले में करके ओबीसी, दलित और पाटीदार वोटरों को अपने पक्ष में करने की है। कांग्रेस अपनी रणनीति में कुछ हद तक सफल हो रही है।

BJP में शामिल हुए दो पाटीदार नेता

वहीं दूसरी तरफ राज्य में भारी विरोध का सामना कर रही भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को भी शनिवार को थोड़ी राहत उस वक्त मिली जब पाटीदार नेता रेशमा पटेल और वरुण पटेल ने बीजेपी का दामन थामने का ऐलान किया। उन्होंने अहमदाबाद में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के साथ मुलाकात की। जिसके बाद वो दोनों बीजेपी में शामिल हो गए। रेशमा और वरुण का बीजेपी में शामिल होना गुजरात में पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के लिए बड़ा झटका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here