अखिलेश यादव का आरोप- ‘पीएम मोदी ने एंटी सैटेलाइट मिसाइल क्षमता पर राष्ट्र को संबोधित कर जमीनी मुददों से देश का ध्यान बंटाया’

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार (27 मार्च) सुबह राष्ट्र को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने देश के अंतरिक्ष महाशक्ति बनने की जानकारी दी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा भारत उपग्रह-भेदी क्षमता हासिल कर चौथा अंतरिक्ष ‘महाशक्ति’ बन गया है। उन्होंने कहा कि अभी तक यह तकनीक सिर्फ अमेरिका, चीन और रूस के पास थी। पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने अंतरिक्ष में एंटी सैटेलाइट मिसाइल से एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराते हुए आज अपना नाम अंतरिक्ष महाशक्ति के तौर पर दर्ज करा दिया। उन्होंने इसे सभी देशवासियों के लिए गर्व का क्षण बताया।

Akhilesh Yadav

हालांकि, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री मोदी पर आरोप लगाया कि उन्होंने भारत की एंटी सैटेलाइट मिसाइल क्षमता पर राष्ट्र को संबोधित कर जमीनी मुद्दों से देश का ध्यान बंटाया। अखिलेश ने ट्वीट कर कहा ‘‘आज नरेंद्र मोदी मुफ्त में घंटा भर टीवी पर रहे और उन्होंने आकाश की ओर इशारा कर बेरोजगारी, ग्रामीण संकट, महिला सुरक्षा जैसे जमीनी मुद्दों से देश का ध्यान बंटाया।’’

प्रधानमंत्री के उद्बोधन का टेलिविजन, रेडियो और सोशल मीडिया पर प्रसारण किए जाने के कुछ ही मिनट बाद सपा अध्यक्ष का ट्वीट आया। अखिलेश ने डीआरडीओ और इसरो को इस सफलता के लिए बधाई भी दी। बता दें कि पीएम मोदी ने कहा, ‘मिशन शक्ति के तहत स्वदेशी एंटी सैटेलाइट मिसाइल ‘ए..सैट’ से तीन मिनट में एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराया गया।’

वहीं, इस मिशन की सफलता के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक तरफ जहां रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के वैज्ञानिकों को ट्वीट कर बधाई दी है, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज सकते हुए उन्हें विश्व रंगमंच दिवस की शुभकामनाएं दी है। राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए ट्वीट किया और लिखा है कि विश्व थियेटर दिवस की शुभकामनाएं। गांधी ने ट्वीट किया, ‘बहुत अच्छे डीआरडीओ, हमें आपके काम पर गर्व है। मैं प्रधानमंत्री को वर्ल्ड थिएटर डे (विश्व रंगमंच दिवस) की बहुत बहुत शुभकामनाएं देता हूं।’

भारत द्वारा अंतरिक्ष में एंटी सैटेलाइट मिसाइल से एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराए जाने संबंधी ‘मिशन शक्ति’ अभियान का राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वागत करते हुए बुधवार को कहा कि यह परीक्षण भारत की वैज्ञानिक क्षमता और देश की सुरक्षा के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के उपयोग का प्रतीक है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘‘मिशन शक्ति भारत के लिये अभूतपूर्व क्षण है। एंटी सैटेलाइट मिसाइल के परीक्षण से भारत की वैज्ञानिक क्षमता और हमारे लोगों के सशक्तिकरण एवं सुरक्षा के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के उपयोग की प्रतिबद्धता झलकती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं सभी संबंधित लोगों को इसके लिये बधाई देता हूं।’’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत ने अंतरिक्ष क्षेत्र में जो काम किया है, उसका मूल उद्देश्य भारत की सुरक्षा, भारत का आर्थिक विकास और भारत की तकनीकी प्रगति है। आज का यह ‘मिशन शक्ति’ इन सपनों को सुरक्षित करने की ओर एक अहम कदम है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं मिशन शक्ति से जुड़े सभी अनुसंधानकर्ताओं और अन्य सहयोगियों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं जिन्होंने इस असाधारण सफलता को प्राप्त करने में योगदान दिया है। हमें हमारे वैज्ञानिकों पर गर्व है।’’

उपराष्ट्रपति एम वेकैया नायडू ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘देश के अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को मिशनशक्ति की सफलता के लिए बधाई देता हूं। उपग्रह रोधी मिसाइल के सफल प्रक्षेपण से देश विश्व में एक अंतरिक्ष महाशक्ति के रूप में उभरा है। आपकी उपलब्धि पर हर देशवासी को गर्व है। भावी सफलताओं के लिए मेरी हार्दिक शुभकामनाएं।’’

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा ‘‘अंतरिक्ष में भारत को विश्व की चौथी महाशक्ति बनाने, राष्ट्र की सुरक्षा को अत्यधिक मजबूत बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मनपूर्वक ह्रदय से बधाई। ’’ महाजन ने कहा, ‘‘अंतरिक्ष में महाशक्ति, भारत के ‘मिशन शक्ति’ को सफल बनाने के लिए हमारे वैज्ञानिकों, कर्मियों को बहुत बधाई।’’ (इनपुट भाषा के साथ)

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here