पुलिस की मौजूदगी में सरकारी अधिकारी को क्रिकेट बैट से पीटने के मामले में BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे को 7 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया

0

मध्य प्रदेश के इंदौर में नगर निगम के एक अधिकारी की पिटाई के मामले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे आकाश विजयवर्गीय को गिरफ्तारी के बाद कोर्ट से जमानत नहीं मिली है। आकाश को नगर निगम अधिकारी की पिटाई के बाद गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद कोर्ट ने आकाश को सात जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए।

बता दें कि आकाश भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं। आकाश विजयवर्गीय का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वह इंदौर में क्रिकेट बैट से नगर निगम के एक अधिकारी की सरेआम पुलिस की मौजूदगी में पिटाई करते हुए नजर आ रहे हैं।

दरअसल, इंदौर में नगर निगम कर्मचारी एक अवैध मकान तोड़ने आए थे। मौके पर पहुंचे भाजपा विधायक आकाश ने अधिकारियों को वहां से चले जाने के लिए कहा, लेकिन जब वो नहीं हटे तो आकाश हाथ में बल्ला लेकर आए और उनकी पिटाई शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि अधिकारी अतिक्रमण विरोधी अभियान के लिए क्षेत्र में थे। आकाश विजयवर्गीय की गुंडागर्दी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

वीडियो में आकाश विजयवर्गीय जर्जर मकान तोड़ने गए इंदौर नगर निगम के एक अधिकारी को पुलिस की मौजूदगी में पीटते हुए नजर आ रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, भाजपा विधायक ने अधिकारी को पहले क्रिकेट बैट से मारा, फिर धक्कामुक्की की और गाली भी दी। आरोप है कि बाद में आकाश के समर्थक भी कथित तौर पर अधिकारी को पीटने लगे।

बाद में दी सफाई

सरकारी अधिकारी को सरेआम क्रिकेट बैट से पीटने के बाद BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय ने कहा, “यह सिर्फ शुरुआत है, हम इस भ्रष्टाचार और गुंडई को खत्म करेंगे। ‘आवेदन, निवेदन और फिर दना दन ’ यह हमारा कदम होगा।” उन्होंने आगे कहा कि गैंग ने महिलाओं को उनके घरों से बाहर खींच लिया, महिला पुलिस को उनके साथ होना चाहिए था। जब मैं वहां पहुंचा, तो लोग अधिकारियों पर गुस्सा थे और वे उनका पीछा कर रहे थे। हम पुलिस स्टेशन पर उन अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज कराने आए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here