गुजरात: स्कूल में दो चोटी बनाकर नहीं आने पर मिली ऐसी सजा कि अस्पताल में भर्ती हुई छात्रा

0

बहुत से छात्र ऐसे होते है जो स्कूल में कुछ गलतियां कर देते है जिसकी उन्हें सजा भी मिलती है। लेकिन कुछ अध्यापक ऐसे होते है जो छात्राओं को बहुत ही दर्दनाक सजा दे देते है जिसके कई बार छात्राओं की तबियत तक बिगड जाती है। ऐसा ही एक मामला गुजरात के अहमदाबाद से मणीनगर इलाके में ललिता ग्रीन लोन स्कूल से सामने आया है जो बेहद ही चौंका देने वाला है।

स्कूल

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, लड़कियों के दो चोटी न बनाने और लड़कों के यूनिफॉर्म पहनकर न आने पर उनसे 40 मिनट तक लगातार 200 उठक-बैठक करवाया गया। इसके चलते कक्षा पांच की एक छात्रा बेहोस हो गई, जिसके बाद उसको अहमदाबाद के एलजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। छात्रों की ओर से लगाई गई उठक-बैठक स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है, वीडियो में साफ दिख रहा है कि छात्राएं उठक-बैठक करते हुए गिर भी रही हैं।

मामला सामने आने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी ने इसकी जांच के आदेश दिए हैं। ख़बरों के अनुसार, इस घटना के बाद नाराज माता-पिता ने स्कूल के आगे विरोध प्रदर्शन किया और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

शिक्षा विभाग के अधिकारियों के अनुसार, ‘बच्ची का नाम हनी प्रजापति है। ललिता ग्रीन लॉन स्कूल में वह पांचवीं क्लास में पढ़ती है। पिछले कुछ दिनों से सिर में सूजन होने के कारण वह ठीक से बाल नहीं बना पा रही थी।’ वहीं इस पूरे मामले में स्कूल प्रशासन का कहना है कि सजा के तौर पर छात्रों से सिर्फ पांच मिनट तक उठक-बैठक करने को कहा गया था, बच्चों को सजा की घटना सीसीटीवी फुटेज में रिकॉर्ड है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here