गोरखपुर: टीचर की सजा से आहत पांचवीं के छात्र ने खाया जहर, सुसाइड नोट में लिखा- मैम इतनी बड़ी सजा किसी को न दे

0

गुरुग्राम स्थित रयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी कक्षा के सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की बेरहमी से गला काटकर हत्या का मामला अभी ठंडा ही नहीं हुआ कि अब उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से एक दर्दनाक खबर आई है। गोरखपुर जिले में टीचर द्वारा मिली सजा से आहत एक छात्र ने बुधवार को जहर खा लिया। छात्र को गंभीर हालत में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।   रिपोर्ट के मुताबिक, गोरखपुर के शाहपुर थाना क्षेत्र स्थित सेंट एन्थोनी कॉवेंट स्कूल की पांचवीं कक्षा के छात्र नवनीत प्रकाश (11) ने शिक्षिका द्वारा दी गयी सजा से आहत होकर बुधवार रात जहर खा लिया, जिससे उसकी मौत हो गयी। नवनीत के पास से बरामद सुसाइड नोट में लिखा है कि उसकी क्लास टीचर ने उसे तीन घंटे तक कक्षा में खड़ा रहने की सजा दी और मुर्गा भी बनाया। पत्र में उसने अपनी आखिरी इच्छा जाहिर करते हुए कहा कि आरोपी टीचर भविष्य में किसी बच्चे को ऐसी सजा ना दे।

रिपोर्ट के मुताबिक, बच्चे ने कथित रूप से कक्षा में मिली सजा से आहत होकर गत 15 सितम्बर को जहरीला पदार्थ खा लिया था। तबियत बिगड़ने पर परिजनों ने उसे मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया जहां बुधवार को उसकी मौत हो गई। जिसके बाद नाराज परिजन तथा शुभचिंतकों ने स्कूल पहुंच कर हंगामा किया और स्कूल प्रशासन तथा आरोपी शिक्षिका के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की।

विवाद बढ़ने के बाद पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर आरोपी टीचर भावना जोजफ को गिरफ्तार कर लिया है।
सूत्रों ने बताया कि स्कूल प्रबंधन के जिम्मेदार लोगों की भी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। छात्र के माता-पिता ने स्कूल प्रशासन पर उनके बच्चे का शोषण करने का आरोप लगाया है।

‘मैम इतनी बड़ी सजा किसी को न दे’

छात्र ने अपने सुसाइड नोट में अपनी टीचर पर प्रताड़ना का आरोप लगाया था। 15 सितंबर 2017 को लिखे पत्र में नवनीत ने क्लास टीचर पर आरोप लगाते हुये लिखा, ‘आज (15-09-2017) मेरे पहला एग्जाम था मेरी क्लास टीचर ने मुझे रूलाया, खड़े रखा। इसलिए क्योंकि वह चापलूसों की बात मानती हैं। उनकी किसी बात का विश्वास मत करियेगा। कल उन्होने मुझे तीन पीरियड खड़े रखा। आज मैनें सोच लिया है कि मैं मरने वाला हूं। मेरी आखिरी इच्छा है कि मैम इतनी बड़ी सजा किसी को न दे। अलविदा पापा-मम्मी और दीदी।’ छात्र का यह नोट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

बता दें कि इससे पहले गुरुग्राम स्थित रयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर की सुबह दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया था। पुलिस ने हत्या के प्रयास के आरोप में बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here