एमएनएस द्वारा 5 करोड़ की मांग पर ट्विटर पर उठे सवाल लिखा, “एमएनएस के लिए देशभक्ति का मूल्य 5 करोड़ है, क्या महाराष्ट्र सरकार दलाल का काम कर रही है?”

0

बॉलीवुड फिल्म ‘ए दिल है मुश्किल’ की रिलीज में आ रही रुकावटों के लिए महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के चीफ राज ठाकरे, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस और प्रोड्यूसर करण जौहर के बीच बातचीत हुई।

मीटिंग के बाद तय हुआ कि MNS फिल्म की रिलीज के होने में परेशानी पैदा नहीं करेगी। और इसके लिए हर उस प्रोड्यूसर को 5 करोड़ रुपए आर्मी वेलफेयर फंड में डालने होंगे जिन्हेंने पाकिस्तानी कलाकारों को अपनी फिल्म में लिया है।

मीटिंग के बाद राज ठाकरे ने कहा, ‘सभी प्रोड्यूसर जिन्होंने अपनी फिल्म में पाकिस्तानी कलाकारों को लिया है उन्हें आर्मी वेलफेयर फंड में 5 करोड़ रुपए देने होंगे। प्रोड्यूसर्स को लिखित में देना होगा कि वह आगे से किसी पाकिस्तानी कलाकार को साइन नहीं करेंगे।’

ऐ दिल है मुश्किल में फवाद खान के रोल के चलते एमएनएस ने धमकी दी थी कि वो इस फिल्म को रिलीज नहीं होने देंगे। बता दें कि यह फिल्म 28 अक्टूबर को रिलीज होनी है।

सीएम आवास पर हुई मीटिंग में फिल्म एंड टेलीविजन प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मुकेश भट्ट भी मौजूद थे। सीएम से मुलाकात कर बाहर आए मुकेश ने बताया, ‘प्रोड्यूसर्स गिल्ड ने फैसला लिया है कि वो आगे से पाकिस्तानी कलाकारों के साथ काम नहीं करेंगे।

इस बातचीत के दौरान भट्ट ने बताया कि करण जौहर ने कहा कि वह इस फिल्म के शुरू होने से पहले शहीद जवानों के लिए एक मैसेज चलाएंगे।

फिल्म निर्माताओं और मनसे प्रमुख के बीच 5 करोड़ की इस डील के बाद सोशल मीडिया यूर्जस की गुस्से की प्रतिक्रिया आई। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस काटजू ने भी कहा कि बाल ठाकरे के बाद, उनके भतीजे राज ठाकरे को गुंडागर्दी विरासत में मिली है।
देखिए कुछ ट्विटर रिएक्शन-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here