‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के डायरेक्टर विजय गुट्टे गिरफ्तार, 34 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े का आरोप

0

फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के निर्देशक विजय रत्नाकर गुट्टे को गिरफ्तार कर लिया गया है। गुट्टे को जीएसटी इंटेलिजेंस विंग ने गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक निर्देशक को मुंबई से जीएसटी संबंधी 34 करोड़ रुपए के फ्रॉड के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि ‘द एक्सीडेंटल प्राइममिनिस्टर’ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के जीवन पर बन रही है। अभिनेता अनुपम खेर इस फिल्म में डॉ. मनमोहन सिंह का किरदार निभा रहे हैं।

(Source: Instagram/Anupam Kher)

रिपोर्ट के मुताबिक निर्देशक विजय गुट्टे पर आरोप है कि उनकी कंपनी वीआरजी डिजिटल कॉर्प प्राइवेट लिमिटेड ने हॉरिजन ऑउटसोर्स सॉल्‍यूशंस प्राइवेट लिमिटेड नाम की एक कंपनी से एनीमेशन और कर्मचारियों की सर्विस लेने के नाम पर 266 करोड़ रुपये दिए। इसपर 34 करोड़ रुपये जीएसटी क्रेडिट फर्जी दस्तावेज देकर हासिल करने की कोशिश की। जबकि विजय ने इस कंपनी से कोई सर्विस ही नहीं ली थी। हॉरिजन कंपनी के खिलाफ 170 करोड़ का फर्जी जीएसटी बिल का मामला चल रहा है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक डायरेक्‍ट्रेट जनरल ऑफ गुंड्स एंड सर्विसेज इंटेजिजेंस (DGGSTI) ने जीएसटी में 34 करोड़ रुपये के फ्रॉड के आरोप में गिरफ्तार किया है। गुट्टे की फर्म पर हॉरिजन ऑउटसोर्स सॉल्‍यूशंस प्राइवेट लिमिटेड से मिली एनिमेशन और मैनपावर सेवाओं के लिए 34 करोड़ रुपये के जीएसटी की ‘फर्जी रसीदें’ लेने का आरोप है। अदालती कागजातों के अनुसार, वीआरजी डिजिटल कॉर्प ने जुलाई 2017 के बाद इन फर्जी रसीदों के जरिए सरकार से CENVAT (सेंट्रल वैल्‍यू एडेड टैक्‍स) के तहत 28 करोड़ रुपये के नकद रिफंड का गलत तरीके से दावा किया।

गुट्टे पर CGST एक्‍ट की धारा (1)(c) के तहत केस दर्ज किया गया है। जांच में खुलासा हुआ है कि गुट्टे की वीआरजी डिजिटल कॉर्प असल में हॉरिजन ऑउटसोर्स सॉल्‍यूशंस के शीर्ष क्‍लाइंट्स में से एक थी। वीआरजीको को 266 करोड़ रुपये की सेवाओं के बदले 40 करोड़ रुपये का जीएसटी भरते दिखाया गया था, जबकि असल में कोई सेवा दी ही नहीं गई। अखबार के मुताबिक मुंबई की एक अदालत ने गुट्टे को 14 अगस्‍त तक के लिए न्‍यायिक हिरासत में आर्थर रोड जेल भेज दिया है।

गुट्टे की गिरफ्तारी ऐसे समय में हुई है, जब उनके पिता रत्‍नाकर गुट्टे पर 5,500 करोड़ रुपये की बैंक धोखाधड़ी के आरोप लगे हैं। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धनंजय मुंडे ने 17 जुलाई को आरोप लगाया था कि रत्‍नाकर की आठ फर्मों ने मिलकर विभिन्‍न बैंकों को 5,500 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का चूना लगाया। गुट्टे के पिता रत्‍नाकर गुट्टे 2014 में बीजेपी-नीत गठबंधन के उम्‍मीदवार क तौर पर परभानी जिले के गंगाखेड़ से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here