कृपाल के शव से हार्ट और लीवर गायब

0

पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में संदिग्ध हालात में दम तोड़ने वाले भारतीय कृपाल सिंह का शव मंगलवार को लाहौर के जिन्ना हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम करने के बाद वाघा बॉर्डर के रास्ते भारत पहुंचा।

कृपाल सिंह का शव भारत पहुंचने के बाद उनके परिवार ने मांग की थी कि शव का पोस्टमार्टम दोबारा से कराया जाए। इसके बाद एक पोस्टमार्टम भारत में भी कराया गया, जिसमें कृपाल सिंह का हार्ट और लीवर गायब पाया गया।

कृपाल सिंह का दिल और कुछ अन्य अंग लाहौर के जिन्ना अस्पताल में निकाल लिए गए। कुछ अंगों के हिस्से लैब भेजे गए हैं, ताकि पता चल सके कि कृपाल की मौत कहीं जहर से तो नहीं हुई। गौरतलब है कि पाकिस्तान के डॉक्टर्स ने कृपाल की मौत का कारण हार्टअटैक बताया था।

वहीं परिवार के लोगों का कहना है कि कृपाल सिंह की जेल में हत्या की गई थी। कृपाल सिंह के परिवार का आरोप है कि उनके चेहरे और बॉडी पर चोट के निशान थे जबकि पाकिस्तान के अनुसार कृपाल को सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

अमृतसर मेडिकल कॉलेज के चेयरमैन अशोक चौहान ने बताया कि कृपाल सिंह के शव की पोस्टमार्टम में उनकी मौत की वजह साफ नहीं हो सकी है। मेडीकल में तीन डॉक्टर्स ने उनका पोस्टमार्टम किया था, लेकिन उन्हें कृपाल सिंह के शरीर पर किसी तरह के जख्म के निशान नहीं मिले।

इस बीच कृपाल के बॉडी पर हक जताने वाले 7 दावेदार सामने आ गए हैं। दावेदारों में कृपाल की पहली पत्नी कलानौर की रहने वाली परमजीत कौर शामिल हैं। उन्होंने कृपाल के लापता होने के बाद दूसरी शादी कर ली थी। कृपाल सिंह पिछलेे 25 सालों से पाक की जेल में बंद थे। सरकार ने पहले ही एलान कर दिया है कि कृपाल सिंह की फैमिली को सरबजीत सिंह की फैमिली जैसी सुविधाएं मिलेंगी। पंजाब सरकार ने कृपाल सिंह की फैमिली को एक करोड़ रुपए देने का एलान किया है। साथ ही, फैमिली से एक शख्स को सरकारी नौकरी देने की बात की है।

कृपाल सिंह की मौत पर सरबजीत की बहन दलबीर कौर ने बड़ा खुलासा किया है। दलबीर कौर का कहना है कि कृपाल सिंह जेल में सरबजीत के कत्ल का हर एक राज जानता था। दलबीर कौर ने कहा कि पाकिस्तान को डर था कि कहीं कृपाल सिंह रिहा होने के बाद उसकी काली करतूतों को जग जाहिर न कर दे, इसलिए उसे मार दिया गया। दलबीर कौर ने भी कृपाल सिंह का पोस्टमार्टम दोबारा कराने की भी मांग की थी। कृपाल सिंह अंतिम संस्कार गुरदासपुर में होगा।

Previous articleआरएसएस का ‘बालागोकुलम’ देगा 5000 केन्द्रों में बच्चों और युवकों को देशभक्ति की शिक्षा
Next articleShockingly inhumane: Women caretaker burns children’s hands with hot spoon in Telangana