महिला सांसद नवनीत राणा का बड़ा आरोप, बोलीं- ‘सचिन वाजे केस उठाने पर शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने दी जेल भेजने की धमकी’

0

महाराष्ट्र की अमरावती सीट से लोकसभा सांसद नवनीत कौर राणा ने सोमवार को आरोप लगाया कि संसद के निचले सदन में मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे से जुडा मुद्दा उठाने पर शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने उन्हें धमकी दी। नवनीत राणा ने कहा है कि लोकसभा में सचिन वाजे केस उठाने पर शिवसेना सांसद ने लोकसभा लॉबी में जेल भेजने की धमकी दी। महिला सांसद ने इस मामले की शिकायत लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से करते हुए कार्रवाई की मांग की है।

नवनीत राणा

अमरावती से लोकसभा सांसद नवनीत कौर राणा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर कहा है कि उन्होंने संसद में महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ आवाज उठाई, तो संसद की लॉबी में ही शिवसेना सांसद सावंत ने उन्हें जेल में डालने की धमकी दी। उन्होंने दक्षिण मुंबई से सांसद सावंत के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की भी मांग की है।

नवनीत राणा ने लोकसभा स्पीकर से की शिकायत में कहा है, “मनसुख हिरेन हत्याकांड और सचिन वाजे प्रकरण पर आज मैंने लोकसभा में कुछ सवाल उठाए। महाराष्ट्र में कानून-व्यवस्था बिगड़ने को लेकर एक महिला सांसद के तौर पर मैंने सवाल उठाए। जिस पर लोकसभा लॉबी में शिवसेना सांसद ने धमकी देते हुए कहा, देखता हूं, तुम महाराष्ट्र में कैसे घूमती हो, तेरे को भी जेल में डालेंगे।” नवनीत राणा ने कहा कि इसके पहले भी तेजाब डालने और जान से मारने की धमकी मिलती रही है।

सांसद नवनीत राणा ने कहा है कि जिस तरह से अरविंद सावंत ने धमकी दी है, यह मेरा ही नहीं पूरे देश की महिलाओं का अपमान है। अरविंद सावंत के खिलाफ कड़ी से कड़ी पुलिस कार्रवाई होनी चाहिए। सांसद नवनीत राणा ने इस पत्र को प्रधानमंत्री, गृहमंत्री को भी भेजा है। वहीं, शिवसेना सांसद ने अपने ऊपर लगे इन आरोपों को झूठा करार दिया और कहा कि एक महिला को धमकाना शिवसैनिक का धर्म नहीं है।

गौरतलब है कि, मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पिछले हफ्ते पत्र लिखकर दावा किया था कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने पुलिस अधिकारियों को 100 करोड़ रूपये की मासिक वसूली करने को कहा है। इस पत्र के बाद राज्य में सियासी तूफान आ गया था। परमबीर सिंह को हाल में मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटा दिया गया था। महाराष्‍ट्र के गृहमंत्री पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों का मुद्दा सोमवार को लोकसभा और राज्यसभा में उठाया गया। (इंपुट: IANS और भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here