सौरव गांगुली के साथ विराट कोहली की अनबन ने क्रिकेट प्रशंसकों को दो भागों में बांटा, सुनील गावस्कर ने मोहम्मद अजहरुद्दीन पर साधा निशाना

0

सौरव गांगुली की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली के सार्वजनिक आक्रोश ने क्रिकेट प्रशंसकों को विभाजित कर दिया है, सोशल मीडिया पर क्रिकेट फैंस दो भागों में बट गए है। यहां तक ​​​​कि इस मामले को लेकर सुनील गावस्कर ने भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन पर भी निशाना साधा।

विराट कोहली

दरअसल, यह सब विराट कोहली द्वारा एक असाधारण प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीसीसीआई की खिंचाई करने के साथ शुरू हुआ क्योंकि उन्होंने कप्तानी विवाद पर सौरव गांगुली के झूठ का पर्दाफाश किया था। गांगुली के दावों के विपरीत, कोहली ने कहा था कि उन्होंने बीसीसीआई को टी 20 टीम के कप्तान के रूप में पद छोड़ने के अपने इरादे के बारे में पहले ही सूचित किया था। कोहली के मुताबिक, गांगुली और जय शाह दोनों को उनके फैसले से कोई दिक्कत नहीं थी।

हालांकि, गांगुली ने एक न्यूज चैनल से कहा था, “जैसा मैंने कहा था… मैंने व्यक्तिगत रूप से उनसे (कोहली) टी20 कप्तानी नहीं छोड़ने का अनुरोध किया था। जाहिर है, उन्होंने काम का बोझ महसूस किया।”

गांगुली के दावों का खंडन करते हुए कोहली ने कहा,, “मैंने T20I कप्तानी छोड़ने से पहले बीसीसीआई को बताया था। मैंने उन्हें अपनी बात बताई। बीसीसीआई ने इसे बहुत अच्छी तरह से प्राप्त किया। कोई अपराध नहीं था। इसे एक प्रगतिशील कदम बताते हुए इसे खूब सराहा गया। मैंने उनसे कहा था कि मैं वनडे कप्तान और टेस्ट कप्तान बना रहूंगा। मैंने उस समय उन्हें स्पष्ट रूप से कहा था कि अगर पदाधिकारी या चयनकर्ता नहीं चाहते कि मैं किसी भी जिम्मेदारी को संभालूं, तो मैं इसके लिए ठीक हूं। मैंने यह स्पष्ट रूप से तब कहा जब मैंने अपनी T20I कप्तानी पर चर्चा करने के लिए BCCI से संपर्क किया।”

कोहली और गांगुली दोनों के प्रशंसक भारतीय टेस्ट कप्तान के समर्थन में भारी बहुमत के साथ अपने-अपने क्रिकेट सितारों का समर्थन कर रहे हैं।

देखें कुछ ऐसे ही ट्वीट: 

बता दें कि, मोहम्मद शमी पर टी 20 विश्व कप मैच हारने के लिए पाकिस्तान से पैसे लेने का आरोप लगाने के लिए हिंदुत्व के ट्रोलर्स द्वारा आलोचना करने के बाद कोहली ने शमी का समर्थन किया था। वहीं, एक हिंदुत्ववादी ट्रोल ने तो कोहली की 9 महीने की बेटी को रेप करने की धमकी तक दे दी थी। बाद में उन्हें मुंबई पुलिस ने हैदराबाद से गिरफ्तार कर लिया।

बता दें कि, यह पूरा विवाद तब शुरू हुआ जब बीसीसीआई ने कोहली से उनकी एकदिवसीय कप्तानी छीन ली और रोहित शर्मा को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया। कोहली के अनुसार, बीसीसीआई द्वारा अपने फैसले के सार्वजनिक होने से दो घंटे से भी कम समय में उन्हें इस फैसले के बारे में सूचित किया गया था। कई लोगों ने महसूस किया कि यह कोहली के अधिकार को गंभीर रूप से कम करने के लिए बीसीसीआई की कोशिश थी।

गावस्कर ने अजहर पर किया हमला:

इस बीच, भारत के पूर्व बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने अपने पूर्व साथी मोहम्मद अजहरुद्दीन पर पर हमला किया। बता दें कि, अजहर ने मंगलवार को ट्वीट किया था, “विराट कोहली ने बता दिया था कि वह वनडे सीरीज के लिए उपलब्ध नहीं है और रोहित शर्मा टेस्ट सीरीज के लिए अनुपलब्ध हैं। ब्रेक लेने में कोई हर्ज नहीं है, लेकिन टाइमिंग बेहतर होनी चाहिए। यह सिर्फ टीम के बीच दरार की अटकलों की पुष्टि करता है। न ही क्रिकेट को कहीं से फायदा पहुंचाएगा।”

अजहर के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए गावस्कर ने इंडिया टुडे से कहा, ”जब तक दोनों खिलाड़ी कुछ नहीं कहते है, हमें किसी नतीजे पर नहीं पहुंचना चाहिए। हाँ, अजहर ने कुछ कहा है; अगर अजहर के पास इस बारे में कुछ आंतरिक जानकारी है कि क्या हुआ है, तो उन्हें उसे लेकर बाहर आना चाहिए और हमें बताना चाहिए कि क्या हुआ था।”

वहीं, रोहित शर्मा के बीच अनबन की अटकलों के बीच विराट कोहली ने कहा था, ‘मेरे और रोहित शर्मा के बीच कोई अनबन नहीं है।’

[Please join our Telegram group to stay up to date about news items published by Janta Ka Reporter]

Previous articleदिल्ली में अपराधियों के हौसले बुलंद: फोन चुराकर भाग रहे स्कूटी सवार स्नैचरों ने महिला को 100 मीटर तक घसीटा; CCTV कैमरे में कैद हुई वारदात
Next articleउत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022: सुब्रमण्यम स्वामी की भविष्यवाणी- 2017 वाली जीत को दोहराएंगे योगी आदित्यनाथ; भाजपा के भीतर क्रेडिट चोरों के खिलाफ दी चेतावनी