जम्मू-कश्मीर में पुलिस द्वारा घरों और दुकानों में ‘तोड़फोड़’ करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

0

पिछले हफ्ते एक झड़प में एक पुलिस उपाधीक्षक के घायल होने के बाद जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले के एक गांव में पुलिसकर्मियों द्वारा दुकानों और घरों को कथित तौर पर नुकसान पहुंचाए जाने संबंधी घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

जम्मू-कश्मीर

दो मिनट से कुछ अधिक लंबे वीडियो में, पुलिसकर्मी मध्य कश्मीर के बडगाम जिले में नसरुल्लापोरा गांव में लोगों की दुकानों और घरों में तोड़फोड़ करते नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में पुलिस कर्मी कई दुकानों से सामान निकालते और उन्हें नष्ट करते नजर आते हैं। यह कथित घटना पिछले सप्ताह शुक्रवार की बताई जा रही है।

घटना से पहले पुलिस उपाधीक्षक फैयाज हुसैन इसी इलाके में उपद्रवियों द्वारा किए गए पथराव के दौरान सिर में चोट लगने से घायल हो गए थे। स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने कई घरों, दुकानों और कारों में तोड़फोड़ की और घरेलू सामान भी नष्ट किया। इस घटना को लेकर पुलिस की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

घटना का वीडियो शेयर करते हुए एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा, “कशमीर में नसरुल्लाहपोरा बडगाम में दुकानों से वस्तुओं को लूटा और जलाया। 27 दुकानें, 50 घर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए, लगभग पूरे गाँव के 800 घर हैं जिनमें विंडोज टूट गए हैं। 500 वाहन नष्ट कर दिए गए!!”

स्थानिय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, गांव के सरपंच गुलाम मोहम्मद डार ने कहा कि शुक्रवार की दोपहर कुछ लोगों ने पथराव किया था, जिसमें डीएसपी जख्मी हो गया। मोहम्मद डार भाजपा की कश्मीर इकाई के एक वरिष्ठ नेता भी हैं। उन्होने कहा कि, दोपहर बाद करीब तीन बजे 40 ट्रकों में पुलिसकर्मी आए और उन्होंने गांव में लोगों से मारपीट शुरू कर दी। जो सामने आया, उन्होंने उसे पीटा। सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो किसी स्थानीय ग्रामीण ने अपने मोबाइल फोन पर ही शूट किया है। (इंपुट: भाषा के साथ)

Previous articleउत्तर प्रदेश: मुजफ्फरगनर में पैदल बिहार जा रहे प्रवासी मजदूरों को बस ने रौंदा, 6 मजदूरों की मौत
Next articleतेलंगाना BJP प्रमुख के खिलाफ लॉकडाउन के उल्लंघन का मामला दर्ज, पार्टी ने की निंदा