प्रज्ञा ठाकुर के विवादित बयान के बहाने तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना, RJD नेता ने सीएम से की माफी की मांग

0

मध्य प्रदेश के भोपाल संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा लोकसभा में नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ बताए जाने वाले विवादित बयान के बहाने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता व बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है।

तेजस्वी यादव ने शुक्रवार (29 नवम्बर) को ट्वीट कर लिखा, “बिहार मे एनडीए (NDA) के कथित शीर्ष नेता मुख्यमंत्री नीतीश जी को साध्वी प्रज्ञा द्वारा गांधी जी के हत्यारे प्रथम आतंकवादी गोडसे को देशभक्त बताए जाने वाले बयान पर बिहार से माफ़ी मांगनी चाहिए क्योंकि इन्होंने बिना अपने मैनिफ़ेस्टो के साध्वी व गिरिराज सिंह जैसों को जिताने के लिए वोट माँगे थे।”

वहीं, तेजस्वी यादव ने इससे पहले बुधवार को अपने एक ट्वीट में लिखा था, “निसंदेह नीतीश कुमार जी की कुख्यात अंतरात्मा आज तृप्त हो गयी होगी क्योंकि उनके पूजनीय परम सहयोगी राष्ट्रवादी दल की विख्यात सांसद ने वंदनीय बापू गांधी के हत्यारे देश के प्रथम आतंकवादी नाथूराम गोडसे को लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर में खड़े होकर सच्चा देशभक्त कहा है।”

गौरतलब है कि, भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बुधवार को संसद में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथुराम गोडसे को देशभक्त बताते हुए नया विवाद खड़ कर दिया था। प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने ये बयान बुधवार को उस समय दिया, जब एसपीजी संशोधन बिल पर बहस चल रही थी। प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर देश भर में सियासी तूफान मचा हुआ है। विपक्षी दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से प्रज्ञा सिंह ठाकुर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। विपक्ष की मांग है कि प्रज्ञा ठाकुर की सदस्यता रद्द हो।

वहीं, विवाद बढ़ता देख प्रज्ञा ठाकुर ने अपनी विवादास्पद टिप्पणी को लेकर शुक्रवार (29 नवम्बर) को लोकसभा में माफी मांगी। प्रज्ञा ठाकुर ने विपक्षी दलों के बिना शर्त माफी मांगने पर जोर देने के बाद शुक्रवार को सदन में दोबारा बयान दिया और कहा कि उन्होंने नाथूराम गोडसे को देशभक्त नहीं कहा था लेकिन फिर भी किसी को ठेस पहुंचती हो तो वह क्षमा चाहती हैं।

Previous articleDavid Warner smashes maiden triple-century of his career against struggling Pakistan, sets new record
Next articleLondon Bridge’s attacker Usman Khan, killed by police, was convicted of terror charges