पाकिस्तान मूल के इस टैक्सी चालक की इमानदारी का मुरीद हुआ दुबई

0

आपने अपनी जिंदगी में बहुत से टैक्सी चालक देखे होगें लेकिन आज हम आपको एक ऐसे टैक्सी चालक से मिलवाने जा रहे है जिस की इमानदारी के चलते उन्हें सम्मानित किया गया। पाकिस्तान मूल के 36 साल के साजिद की टैक्सी में एक यात्री रकम और पासपोर्ट भूल कर चला गया था लेकिन उसने ईमानदारी का परिचय देते हुए यह राशि उसके मालिक को वापस लौटा दी।

दरअसल 21 जनवरी को खालिद ने डेरा से एक यात्री को टैक्सी में बिठाया और गोल्ड सूक पर उसे छोड़ दिया। उसको छोड़ने के आधे घंटे के बाद अपनी कार में एक शॉपिंग बैग दिखाई दिया। उसमें तंजानिया का पासपोर्ट था और 180,000 दिरहम भी थे। खालिद अपनी कंपनी के कस्टमर केयर पर गया तथा पुलिस को रिपोर्ट को इसकी सूचना दी। इसके तीन घंटे के भीतर सम्बन्धित व्यक्ति के पास पैसे पहुँच गए। खालिद ने बताया कि जब वह उस यात्री को पैसा वापस कर रहा था तो उसकी आँखों में आंसू थे, उसने मुझे धन्यवाद दिया। उसका कहना था कि कई बार ऐसा हुआ कि यात्री टैक्सी में आइटम छोड़ गया लेकिन मैंने हमेशा उनको वापस कर दिया।

पाकिस्तान एसोसिएशन, दुबई के महासचिव डॉ फैसल इकराम ने कहा कि खालिद को उसकी ईमानदारी के लिए सम्मानित किया गया। वह 20 साल की उम्र से यहां पर रह रहा है। ईमानदारी को लेकर साजिद ने कभी समझौता नहीं किया और यही कारण रहा की इतनी रकम मिलने के पश्चात उसने मालिक को वापस कर दी। खालिद का कहना है कि ईमानदारी ही मेरे लिए सब कुछ है। जो पैसे मेरे नहीं हैं, उनको रखने की कल्पना भी नहीं कर सकता हूं।

Previous articleRSS प्रमुख ने बैतूल जेल में गोलवलकर को दी श्रद्धांजलि, कांग्रेस ने पूछा- किस नियम के तहत हुई भागवत की ‘जेल यात्रा’
Next article131 MLAs attended Sasikala-chaired meeting: Saraswathi