FIR दर्ज होते ही बदले ज़ी न्यूज़ के एंकर सुधीर चौधरी के तेवर, समझाया इस्लाम और जिहाद में फर्क, वीडियो वायरल

1

अपने प्राइम टाइम शो डेली न्यूज़ एंड एनालिसिस (डीएनए) पर इस्लाम के पांच स्तंभों के बारे में अपने दर्शकों को बताने के बाद ज़ी न्यूज़ के संपादक व विवादास्पद एंकर सुधीर चौधरी एक बार फिर से सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए है, लोग उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे हैं। दरअसल, जिहाद का नाम लेकर सांप्रदायिक नफ़रत फैलाने वाले सुधीर चौधरी अब जिहाद की तारीफ करते नजर आ रहे हैं।

अपने दर्शकों को संबोधित करते हुए ज़ी न्यूज़ के एंकर सुधीर चौधरी ने शुक्रवार (9 मई) को कहा कि, “दुनिया का कोई भी धर्म हिंसा को बढ़ावा नहीं देता है, इस्लाम भी नहीं देता है। इसलिए, किसी भी मजहब के बारे में किसी नतीजे पर पहुंचने से पहले हमें उसके सिद्धांतों के बारे में जरुर पता होना चाहिए। इस्लाम ने हर मुसलमान के लिए कुछ खास कर्तव्य बनाएं है। इन्हें इस्लाम के 5 स्तंभ भी कहते हैं।”

इसके बार सुधीर चौधरी ने इस्लाम के पांच सिद्धांतों को उजागर किया। उन्होंने स्पष्ट किया, “इस्लाम का पहला स्तंभ शहादा है, जिसका शाब्दिक अर्थ है घोषणा करना या गवाही देना। हर मुसलमान का कर्तव्य है कि वो इस बात की घोषणा करे कि अल्लाह के सिवा कोई और परमेश्वर नहीं है। यानी वो सिर्फ और सिर्फ अल्लाह में अपना भरोसा रखे।”

उन्होंने आगे कहा, “दूसरा स्तंभ है सलात। फारसी में इसी को नमाज भी कहते हैं। इस्लाम कहता है कि हर मुसलमान के लिए दिन में 5 बार नमाज पढ़ना जरूरी है। इस्लाम का तीसरा स्तंभ है जकात। आप इसे साल में एक बार किया जाने वाला दान भी कह सकते हैं। हर मुसलमान के लिए ये जरूरी है कि वो अपनी आय का एक हिस्सा जरूरतमंदों को दान दे।”

“इस्लाम का चौथा स्तंभ है सौम। इसे रोजा रखना रखना भी बोलते हैं। इस्लाम में कहा गया है कि रमजान के महीने में हर मुसलमान के लिए रोजा यानी व्रत रखना जरूरी है। आप लोगों को पता भी होगा कि इस समय रमजान का महीना चल भी रहा है। इसी तरह हज को इस्लाम का पांचवां स्तंभ माना जाता है। हर मुसलमान का ये कर्तव्य है कि अगर वो मक्का जाने का खर्च उठा सकता है तो जीवन में एक बार उसे हज पर जरूर जाना चाहिए।”

ज़ी न्यूज़ के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी का यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे हैं। अपने इस वीडियो को लेकर वह लोगों के निशाने पर आ गए, यूजर्स का कहना है कि एक FIR पर ही सुधीर चौधरी इस्लाम के फायदे बताने लगा, एक और होते ही वह शो बिस्मिल्लाह रहमान रहीम से शुरू करने लग जाएंगा।

बता दें कि, सुधीर चौधरी के खिलाफ गुरुवार को केरल में गैर-जमानती धाराओं के तहत FIR दर्ज की गई है। पुलिस में शिकायत दर्ज किए जाने के बाद सुधीर चौधरी केरल में गिरफ्तारी का सामना कर रहे है। एफआईआर के मुताबिक, “11 मार्च, 2020 को ज़ी न्यूज़ चैनल पर एक शो “डीएनए” प्रसारित किया गया। इस शो के दौरान आरोपी सुधीर चौधरी ने एक प्रोग्राम पेश किया जिसमें मुस्लिम धर्म को अपमानित किया गया।” 11 मार्च को प्रसारित हुए इस शो का हाईलाइट ‘जिहाद चार्ट’ था। अपने इस शो में सुधीर चौधरी ने दर्शकों को विस्तार से ‘जिहाद के प्रकार’ समझाए थे।”

गौरतलब है कि, सुधीर चौधरी द्वारा शो में दिखाए गए “जिहाद चार्ट” को लेकर खूब विवाद हुआ था। ट्विटर पर उनकी काफी आलोचना हुई थी। इसके अलावा उनका मज़ाक भी उड़ाया गया था।

Previous article“कोई मुस्लिम स्टाफ नहीं”, मुसलमानों के खिलाफ बेकरी मालिक ने छपवाया विज्ञापन, पुलिस ने किया गिरफ्तार
Next articlePrashanth, bakery shop owner, arrested in Chennai for promoting Islamophobia