गुरु ग्रंथ साहिब अपमान मामला: पंजाब पुलिस की SIT ने अक्षय कुमार से की पूछताछ, रेप के आरोपी राम रहीम से जुड़ा था अभिनेता का नाम

0

श्री गुरु ग्रंथ साहिब के अपमान और उसके बाद हुई हिंसा के मामले में बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार पंजाब पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) के सामने पेशी के लिए बुधवार (21 नवंबर) को चंडीगढ़ पहुंचे। जहां एसआईटी की टीम ने अभिनेता से पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक करीब दो घंटे तक अभिनेता से पूछताछ चली है। अक्षय कुमार पर आरोप है कि उन्होंने रेप के आरोपी डेरा सच्चा सौदा के चीफ गुरमीत राम रहीम की तत्कालीन डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल से कथित तौर पर मीटिंग करवाई थी।

हालांकि, बॉलीवुड अभिनेता ने रेप के आरोपी डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह से मुलाकात होने की खबरों को खारिज किया है। तीन साल पहले पंजाब के फरीदकोट स्थित बरगाड़ी गांव में सिखों के पवित्र ग्रंथ ‘श्री गुरु ग्रंथ साहिब’ के अपमान के मामले में जांच कर रही विशेष जांच दल ने अभिनेता अक्षय कुमार को समन भेजकर पूछताछ के लिए बुलाया था।

एसआईटी ने अक्षय कुमार के साथ पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल को भी समन भेजा गया है। अक्षय कुमार पर जस्टिस रणजीत सिंह आयोग की रिपोर्ट में संगीन आरोप लगे थे। अभिनेता पर आरोप है कि उन्होंने कथित तौर पर सितंबर 2015 में अपने फ्लैट पर पंजाब के तत्कालीन उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल और रेप के आरोपी डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के बीच बैठक करवाई।

आरोप है कि इस दौरान श्री तख्त दमदमा साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरमुख सिंह भी मौजूद थे। इसी बैठक के दौरान ही डेरा प्रमुख की फिल्म को पंजाब में रिलीज करने पर मुहर लगी। अक्षय पर आरोप है कि उन्होंने सुखबीर सिंह बादल के साथ राम रहीम की मुलाकात कराने का बंदोबस्त किया था।

अभिनेता ने दी सफाई

इस मामले में बवाल बढ़ता देख सोशल मीडिया पर दिए गए एक बयान में अक्षय ने राम रहीम सिंह के साथ किसी तरह का संबंध होने या मुलाकात होने की बात को नकार दिया और इसे ‘अफवाह और झूठा बयान’ करार दिया है। अक्षय ने पिछले दिनों एक बयान में कहा, “मैं जिंदगी में कभी भी, कहीं भी गुरमीत राम रहीम से नहीं मिला हूं। मुझे सोशल मीडिया से पता चला कि राम रहीम मुंबई के जुहू में मेरे ही इलाके में कहीं रहता था। लेकिन, हम दोनों एक-दूसरे से कभी नहीं मिले।” गौरतलब है कि राम रहीम सिंह की फिल्म ‘एमएसजी’ का सिख समुदाय विरोध करता रहा है।

अभिनेता ने कहा, “इतने सालों में, मैंने समर्पण के साथ पंजाबी संस्कृति और समृद्ध इतिहास और सिख परंपरा को बढ़वा देने वाली फिल्में जैसे ‘सिंह इज किंग’ और ‘केसरी’ (सारगढ़ी युद्ध पर आधारित) बनाई है। पंजाबी होने पर मुझे गर्व है और सिख आस्था के प्रति बेहद सम्मान है।” अक्षय ने कहा, “मैं कभी भी ऐसा कुछ नहीं करूंगा जिससे मेरे पंजाबी भाइयों और बहनों की भावनाएं आहत हों, जिनके प्रति मेरे मन में बहुत सम्मान और प्यार है।”

पंजाब के बहबल कलां में बेअदबी के मुद्दे पर पुलिस की गोलीबारी की जांच कर रहे एसआईटी ने समन जारी कर प्रकाश सिंह बादल को 16 नवंबर को पंजाब पुलिस की एसआईटी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया था। जबकि, सुखबीर को 19 नवंबर तथा अक्षय कुमार को 21 नवंबर को अमृतसर में सर्किट हाउस में पेश होने के लिए कहा गया था। एसआईटी राज्य में बेअदबी की कई घटनाओं के बाद 2015 में फरीदकोट में कोटकपूरा और बहबल कलां में गोलीबारी की घटनाओं की जांच कर रही है। बहबल कलां में पुलिस गोलीबारी में दो लोग मारे गए थे।

Previous articleAkshay Kumar questioned by SIT of Punjab Police for alleged links with rapist Gurmeet Ram Rahim
Next articleमध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव: हेमा मालिनी की सभा में ‘बिजली हुई गुल’, मोबाइल की रोशनी में पढ़ना पढ़ा भाषण