यूपी में जिला मुख्यालयों से गांवों को जोड़ने के लिए चलेगी भगवा रंग की बसें

0

उत्तर प्रदेश की सड़को पर आपको जल्द ही अब भगवा रंग की बसे देखने को मिलेगी। राज्य सरकार जिला मुख्यालय और राज्य की राजधानी के साथ ग्रामीण इलाकों के दूरदराज के इलाकों को जोड़ने के लिए एक नई बस सेवा ‘अंत्योदय सेवा’ लॉन्च करने जा रही है। अंत्योदय सेवा के पहले चरण में 50 बसों का चलाने की योजना है, जिसे जल्द ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ झंडी दिखा कर रवाना करेंगे।

फोटो- दैनिक जागरण

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ये बसें आरएसएस से जुड़े रहे जनसंघ के संस्थापकों में से एक पंडित दीन दयाल उपाध्याय की 100वीं जन्म शताब्दी समारोह के लिए बस सेवा शुरू की जा रही है। यह समारोह सोमवार को नई दिल्ली में एक शानदार आयोजन के साथ समाप्त होगा, सेवा के लिए खरीदे गए इन बसों का रंग भगवा होगा।

Follow us on Google News

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक, सूत्रों ने बताया कि बस सेवा का शुभारंभ 22 सितंबर को करने की योजना बना रहे थे, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो दिवसीय यात्रा के बाद मुख्यमंत्री वाराणसी के दौरे के बाद से ऐसा नहीं हो सका।

ख़बरों के मुताबिक, परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वतंत्र देव सिंह ने कहा है कि बस सेवा को जिला मुख्यालय के साथ ब्लॉक स्तर पर गांवों से जोड़ने के लिए शुरू किया जाएगा। कुछ बसें गांवों और राज्य की राजधानी के बीच भी जोड़ा जाएंगा। इन बसों का साधारण किराया होगा।

सिंह ने कहा कि कानपुर में यूपी राज्य सड़क परिवहन निगम(यूपीएसआरटीसी) की कार्यशाला में 50 बसें हैं, बसों का आकर्षण बढ़ाने के लिए विभिन्न रंगों से इन्हें सजाया गया है। उन्होंने कहा है कि इन बसों का रंग अलग रखा गया है जिससे इन्हें दूर से ही पहचाना जा सके।

इस कार्यक्रम के तहत सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा 26 सितंबर या 27 सितंबर को लखनऊ में लांच किया जाएगा। पहले चरण में यह बस सेवा मथुरा, वाराणसी, गोरखपुर और फैजाबाद के गांवों को जोड़ेगा।

बता दें कि, यूपी की सत्ता में जब भी कोई पार्टी आती है तो वो बसों का रंग बदल देती है। सत्ता में बसपा आई थी, परिवहन निगम की बसों से लेकर रोड डिवाइडरों तक के रंग नीले होने लग गए थे। सपा आई तो बसों को हरी और लाल रंग में बदल दिया। अब भाजपा आई है, तो भगवा रंग में बसें नजर आएंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here