“चुप हो जा, अब आगे से पूछेगा तो ठीक नहीं”: पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर सवाल पूछने पर पत्रकार पर भड़के रामदेव, रिपोर्टर को दी धमकी; ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #BoycottPatanjali

0

पतंजलि आयुर्वेद कंपनी के संस्थापक और योग गुरू बाबा रामदेव ने बुधवार को मीडिया के कैमरे के सामने उस समय अपना आपा खो दिया और एक रिपोर्टर को धमकी तक दे दी, जब उसने 2014 में नरेंद्र मोदी को सत्ता में लाने के लिए पेट्रोल की कीमतों को 40 रुपये प्रति लीटर तक कम करने के योग गुरु के पिछले दावों को उजागर करने की कोशिश की।

रामदेव

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में रामदेव एक रिपोर्टर पर अपना आपा खोते हुए दिखाई दे रहे हैं।वीडियो में रामदेव कहते हुए नज़र आ रहे है कि, सब लोग ज्यादा मेहनत करें। सरकार कहती है, अगर तेल का दाम कम होगा तो उन्हें टैक्स नहीं मिलेगा, तो वे देश कैसे चलाएंगे। सेना को कैसे वेतन देंगे, सड़क कैसे बनाएंगे? हां, महंगाई कम होनी चाहिए, मैं मानता हूं… दोनों ही पक्ष हैं। लेकिन मेहनत ज्यादा करो। मैं भी संन्यासी होकर सुबह चार बजे उठता हूं और रात के दस बजे तक काम करता हूं।

इस दौरान एक पत्रकार ने रामदेव से मीडिया में उनके एक बयान के बारे में सवाल किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि लोगों को ऐसी सरकार पर विचार करना चाहिए जो 40 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल और 300 रुपये प्रति सिलेंडर पर रसोई गैस सुनिश्चित कर सके। पत्रकार के इस सवाल पर रामदेव बुरी तरह भड़क गए और उसे धमकाते हुए नजर आए।

पत्रकार के सवाल पर रामदेव ने कहा, ”हां, मैंने कहा था, आप क्या कर सकते हो? ऐसे प्रश्न मत पूछो। क्या मैं तेरे प्रश्नों का उत्तर देने के लिए कोई ठेकेदार है, तू जो भी पूछे और मैं उसका उत्तर दूं। जब पत्रकार ने फिर से सवाल किया और कहा कि आपने सभी टीवी चैनलों में ऐसी बाइट दी थी।”

इसपर रामदेव ने पत्रकार की ओर इशारा करते हुए कहा, “मैंने दी थी और अब नहीं देता। कर ले, क्या करेगा। चुप हो जा। अब आगे से पूछेगा तो ठीक नहीं। एक बार बोल दिया न, बस। इतनी ज्य़ादा उदंडता नहीं करना चाहिए। तू किसी सभ्य मां-बाप की औलाद होगा।”

रामदेव के इस बयान के बाद ट्विटर पर #BoycottPatanjali ट्रेंड कर रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स रामदेव के बयान की आलोचना करते हुए उन्हें जमकर खरी-खटी सुना रहे हैं।

रिपोर्टर 2014 के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले रजत शर्मा के इंडिया टीवी के साथ रामदेव के इंटरव्यू का जिक्र कर रहे थे। जिन लोगों ने कांग्रेस नीत संप्रग को हराने के लिए भाजपा के लिए सक्रिय रूप से वोट मांगा था, उनमें रामदेव भी शामिल थे। ऐसे भी आरोप लगे थे कि रामदेव ने भाजपा के प्रचार के लिए फंडिंग भी की थी। यह तब हुआ जब एक भाजपा उम्मीदवार को चुनावी रैली के दौरान पैसे मांगते देखा गया। रामदेव के साथ भाजपा उम्मीदवार की बातचीत को एक स्ट्रिंगर कैमरे द्वारा रिकॉर्ड किया गया था।

[Please join our Telegram group to stay up to date about news items published by Janta Ka Reporter]

Previous articleमध्य प्रदेश: सर्किट हाउस में शराब पिलाकर नाबालिग लड़की से बलात्कार करने के आरोप में महंत सहित दो लोग गिरफ्तार
Next articleकर्नाटक: छात्राओं को हिजाब पहनकर परीक्षा देने की अनुमति देने पर 7 शिक्षक निलंबित