हाफिज सईद की रिहाई पर राहुल गांधी का PM मोदी पर तंज, कहा- नरेंद्र भाई, गले लगाना काम नहीं आया और ज्यादा गले लगाने की जरूरत है

0

लश्कर-ए-तैयबा के सरगना और मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की रिहाई को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है।

Photo: The Indian Express

राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर ट्वीट करते हुए लिखा कि, राहुल ने लिखा, ‘नरेंद्र भाई, बात नहीं बनी। आतंक का मास्टमांइड आजाद, राष्ट्रपति ट्रंप ने पाक सेना को लश्कर फंडिंग में क्लीन चिट दे दी, गले लगाना काम नहीं आई अब और ज्यादा गले लगाने की तत्काल जरूरत है।’ बता दें कि राहुल गांधी पिछले कुछ दिनों से ट्विटर के जरिए केंद्र सरकार पर लगातार निशाना साध रहे हैं।

दरअसल, 26/11 मुंबई हमलों के मुख्य आरोपी हाफिज सईद की रिहाई के बाद भारत को अमेरिका से मदद की उम्मीद थी, लेकिन अमेरिका ने पाकिस्तान सेना को टेरर फंडिंग से क्लीन चिट देते हुए भारत को झटका दिया है।

राहुल गांधी के इस ट्वीट के तुरंत बाद बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने पलटवार किया। नरसिम्हा ने ट्विटर पर लिखा, ‘राहुल बाबा, आदतें नहीं बदली हैं। एक बार देश के लिए खड़े होइए न कि आतंकियों के साथ जैसा कि आपकी आदत है। आप तो लश्कर-ए-तैयबा पर संवेदना प्रकट करने के लिए जाने जाते हैं।

विकिलीक्स और इशरत जहां केस पर कवर अप से आपके लिंक्स को उजागर हो गए थे। फिर भी, क्या आपने ‘हाफिज साहब’ को रिहाई पर बधाई दी?’

बता दें कि, इससे पहले हाफिज सईद की रिहाई के आदेश पर अमेरिकी विदेश विभाग ने नाखुशी जाहिर करते हुए उसे दोबारा गिरफ्तार करने की मांग की है। अमेरिका ने पाकिस्तान की सरकार से कहा कि वह तुरंत यह सुनिश्चित करे कि अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी हाफिज को जल्द फिर गिरफ्तार कर, उसे उसके गुनाहों की सजा दी जाए।

गौरतलब है कि, कुछ दिनों पहले ही पाकिस्तान ने जमात-उद-दावा चीफ हाफिज सईद को रिहाई दे दी है। इसके साथ ही पाकिस्तान सरकार ने आतंकी हाफिज की मीडिया कवरेज पर बैन लगा दिया है। लाहौर में शुक्रवार को होने वाले हाफिज के संबोधन को कवरेज न देने और रिपोर्टिंग न करने के निर्देश दिए थे।

मुंबई हमले के मास्टर माइंड सईद पर अमेरिका पहले ही एक करोड़ डॉलर का इनाम घोषित कर चुका है। मगर उसे लाहौर उच्च न्यायालय के एक आदेश पर 10 महीने की नजरबंदी बाद गुरुवार की आधी रात के बाद रिहा कर दिया गया। बता दें कि, हाफिज की रिहाई पर भारत समेत दुनिया के कई मुल्कों ने कड़ा ऐतराज जताया है।

Previous articleShivraj Chouhan objects to ‘love for English’ by students, sends own children to posh English-medium schools
Next article‘अंग्रेजी के मोह को अजीब सी ‘विकृति’ बताने वाले शिवराज सिंह चौहान खुद अपने बच्चों को इंग्लिश मीडियम स्कूलों में बढ़ाते हैं’