CAA के समर्थन में पीएम मोदी ने ट्विटर पर शुरू किया अभियान, शेयर किया सद्गुरु जग्गी वासुदेव का वीडियो

0

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के खिलाफ देशभर में मचे घमासान के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को ट्विटर पर #IndiaSupportsCAA अभियान शुरू किया है। पीएम मोदी ने सीएए के समर्थन में अभियान का प्रसार करने के लिए आध्यात्मिक गुरु सदगुरु जग्गी वासुदेव का एक वीडियो पोस्ट किया।

(PTI File Photo)

पीएम मोदी ने सोमवार (30 दिसंबर) को ट्वीट किया, ‘‘सीएए से जुड़े पहलुओं की स्पष्ट व्याख्या तथा और भी चीजें सदगुरू से सुनिए। उन्होंने ऐतिहासिक संदर्भ का हवाला दिया है और हमारी भाईचारे की संस्कृति का बेहतरीन तथा शानदार तरीके से उल्लेख किया है। इसके साथ ही उन्होंने निहित स्वार्थ वाले कुछ समूहों की गलत सूचनाओं को बेनकाब किया है।’’

प्रधानमंत्री की निजी वेबसाइट के ट्विटर हैंडल पर भी एक संदेश पोस्ट किया गया है जिसमें कहा गया है कि सीएए उत्पीड़न का शिकार हुए शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए है और इसमें किसी की नागरिकता लेने की बात नहीं की गई है। यह संदेश ‘इंडिया सपोर्ट्स सीएए’ नामक हैशटैग से पोस्ट किया गया है।

पीएम मोदी ने #IndiaSupportsCAA ट्वीट करते हुए लिखा, क्योंकि सीएए प्रताड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देता है और यह किसी की नागरिकता छीनता नहीं है। पीएम ने अपने ट्वीट में आगे लिखा है कि नमो ऐप के वॉलिंटियर मॉड्यूल के वाइस सेक्शन में मजेदार कंटेंट, ग्रॉफिक्स और अन्य को देखने के लिए इस हैशटैग को देखें। पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा है कि इस हैशटैग के जरिए सीएए के पक्ष में अपना समर्थन दें।

पीएम के इस ट्वीट के बाद ऐसा माना जा रहा है कि सत्तारूढ़ सरकार भी इस ऐक्ट को लेकर अब बड़ा अभियान शुरू करने वाली है। माना जा रहा है कि विपक्ष के दबाव के आगे न झुकते हुए पीएम ने इस ऐक्ट के बारे में लोगों को बताने के लिए यह अभियान शुरू किया है।

गौरतलब है कि, नागरिकता संशोधन कानून का कांग्रेस, टीएमसी समेत लगभग सभी विपक्षी दल विरोध कर रहे हैं। दिल्ली, यूपी, पश्चिम बंगाल, बिहार, असम में इस ऐक्ट के विरोध में जोरदार प्रदर्शन हुए थे। देश की कई हिस्सों में लोग इसका विरोध करते हुए प्रदर्शन कर रहे हैं। दिल्ली में भी हिंसक प्रदर्शन हुए थे।

Previous articleअमिताभ बच्चन को मिला ‘दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड’, CAA और NRC पर चुप्पी को लेकर ट्विटर पर जमकर हो रहे हैं ट्रोल
Next articleShaheen Bagh’s anti CAA protests: Fear of reading constitution while sitting in detention camps