जानिए क्यों, चुनाव रैलियों में भाषणों को लेकर ‘निरुप्पा रॉय’ से हो रही है पीएम मोदी की तुलना

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक ऐसे राजनेता हैं जिन्होंने वास्तव में अपने प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ व्यक्तिगत हमलों का पलटवार करने की कला में महारत हासिल कर रखी है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ दिनों पहले छत्तीसगढ़ में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था। इस दौरान पीएम मोदी अपने संबोधन में कांग्रेस पर निशाना साधते-साधते भाषा की सारी मर्यादाएं तोड़ते हुए नजर आए थे। पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते-साधते उनके चार पुश्तों तक तुम-तड़ाम करते हुए पहुंच गए थे।

पीएम मोदी ने राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए उनसे पूछा था कि ये बताओं कि क्या कहीं पानी की पाइप लाइन आप लगाकर गए थे क्या? आपके (राहुल गांधी) दादा-दादा और नाना-नानी लगाकर गए थे क्या? और रमन सिंह (छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री) ने आकर उखाड़र फेंक दिया क्या? क्यों झूठ फैला रहे हो? क्यों मुर्ख बना रहे हो देश को? पीएम ने पूछा, चार पीढ़ी तक तुम (राहुल गांधी और कांग्रेस) लोग बैठे थे…तुमने क्यों नहीं किया? ये तो जवाब बताओं?

इसके बाद भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों और राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम में बीजेपी के नियमों के तहत खराब शासन पर अपना ध्यान रखा। हालांकि, अपेक्षाकृत कम स्तर पर कुछ कांग्रेस नेता थे, जिन्होंने नेहरू-गांधी परिवार के खिलाफ अपने व्यक्तिगत हमले के लिए पीएम मोदी पर पटलवार किया था।

कांग्रेस नेता राज बब्बर ने हाल ही में पीएम मोदी की मां (हीराबेन) की उम्र की तुलना डॉलर के मुकाबले रुपये की गिरती कीमत से की थी। राहुल गांधी के वंश पर पीएम मोदी के हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए एक अन्य कांग्रेस नेता विलासराव मुत्तेमवार ने पीएम मोदी और उनके पिता पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। विलासराव मुत्तेमवार ने कहा, तुम्हें कौन जानता था हिंदुस्तान का प्रधानमंत्री बनने से पहले? और आज भी तुम्हारे बाप का नाम कोई जानता नहीं।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन दो घटनाओं पर जोर दिया और चुनाव में इसका भावनात्मक लाभ प्राप्त करने के लिए उन्हें अपने सार्वजनिक भाषणों में उपयोग करने का फैसला किया।

रविवार को एक चुनाव रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि, मेरे पिताजी 30 साल पहले दुनिया छोड़कर चले गए। मेरे परिवार में किसी का राजनीति से कोई संबंध नहीं है। फिर भी कांग्रेस के नामदार मेरे परिवार के बारे में अभद्र टिप्पणी करने से नहीं रुकते। पीएम मोदी वास्तव में यहां गलत थे क्योंकि उनके पिता और मां के बारे में राहुल गांधी ने टिप्पणी नहीं की थी।

पीएम मोदी की यह टिप्पणियां जल्द ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। सोशल मीडिया यूजर्स ने उनसे पूछा कि पीएम हर समय बॉलीवुड की त्रासदी रानी निरुप्पा रॉय के साथ तुलना करने के साथ शिकायत मोड क्यों कर रहे थे। एक अन्य यूजर ने पूछा कि क्यों मोदी और उनकी पार्टी ने हमेशा शासन के मुद्दे को नजरअंदाज किया और सार्वजनिक हमले को कम करके व्यक्तिगत हमले पर ध्यान केंद्रित किया।

बता दें कि राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम में विधानसभा चुनाव के नतीजे अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों के नतीजे पर काफी प्रभाव डालेंगे। इन पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

https://twitter.com/DConquered/status/1066756304847478784?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1066756304847478784&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.jantakareporter.com%2Fentertainment%2Fheres-why-pm-modi-is-being-compared-with-bollywoods-tragedy-queen-nirupa-roy-in-election-rallies%2F220571%2F

Previous articleकरतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास से पहले ही विवाद, पंजाब सरकार के मंत्री ने शिलापट पर अपने और सीएम अमरिंदर सिंह के नाम पर चिपकाया काला टेप
Next articleराजस्थान चुनाव: राहुल गांधी ने अजमेर शरीफ में चढ़ाई चादर, पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर में की पूजा अर्चना