पढ़ें, प्रधानमंत्री पद के सवाल पर क्या बोले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी इन दिनों अपने बयानों के लेकर मीडिया की सुर्खियों में बने हुए है। इसी बीच, नितिन गडकरी ने खुद को ‘पक्का आरएसएस वाला’ बताते हुए शुक्रवार को कहा कि वह प्रधानमंत्री पद की दौड़ में नहीं हैं और उनके लिए राष्ट्र सर्वोपरि है। गडकरी ने कहा कि आगामी चुनाव में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिलेगा और देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विकास की राह में आगे बढ़ेगा जबकि ‘हम उनके पीछे खड़े हैं।’

File Photo: (नितिन गडकरी)

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इन अटकलों पर प्रतिक्रिया की कि खंडित जनादेश के मामले में गडकरी प्रधानमंत्री पद के लिए बीजेपी के आम सहमति के उम्मीदवार होंगे और कहा कि यह ‘मुंगेरी लाल के हसीन सपने’ जैसा है। उन्होंने इससे जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा, ‘मेरा इससे कोई नाता नहीं है, मैं दौड़ में नहीं हूं।’

गडकरी ने कहा, ‘मोदी जी प्रधानमंत्री हैं और और दोबारा भी वही बनेंगे। मैं आरएसएस वाला हूं, हमारा मिशन राष्ट्र के लिए काम करना है। विकास और वृद्धि के मामले में देश मोदी जी के नेतृत्व में विकास कर रहा है, हम उनके पीछे खड़े हैं। मेरे प्रधानमंत्री बनने का सवाल कहां होता है।’

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि बीजेपी पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में लौटेगी। पिछले चुनाव के साढ़े तीन लाख वोटों के मुकाबले इस बार उन्हें पांच लाख वोट मिलने जा रहे है। गडकरी ने कहा कि उन्हें जो लगता है, वह कह देते हैं। ‘न तो मैं सपने देखता हूं, ना ही कोई लियाजिनिंग है और ना ही कोई पीआर (प्रचार) है।’

बता दें बीजेपी के वरिष्ठ नेता गडकरी हाल ही में उस समय सुर्खियों में थे, जब वह तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद भगवा पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर कटाक्ष करते हुए नजर आ रहे थे। (इंपुट: भाषा के साथ)

Previous articleजम्मू-कश्मीर: कुपवाड़ा में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में पांच जवान शहीद, रणदीप सुरजेवाला ने पीएम मोदी से पूछा- “कुर्बानियों व शहादतों का ये सिलसिला कब तक?”
Next articleWATCH- Sambit Patra leaves own minister Kiren Rijiju in fix with dubious claims on recent Indo-Pak military skirmishes