सरकारी स्कूल के धार्मिक वर्कशॉप में शिवलिंग बनाने से मना करने पर मुस्लिम छात्राओं को कमरे में किया कैद

0
Follow us on Google News

बीजेपी शासित राज्य मध्य प्रदेश के भोपाल में एक सरकारी स्कूल में एक धार्मिक वर्कशॉप के दौरान शिवलिंग बनाने से मना करने पर करीब 100 मुस्लिम छात्राओं को एक कमरे में बंद कर देने की ख़बर है। यह घटना भोपाल के कमला नेहरू गर्ल्स हायर सैकेंडरी स्कूल की है, यह स्कूल भोपाल के टीटी नगर में है।

प्रतिकात्मक फोटो

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, स्कूल की प्रिंसिपल निशा कामरानी ने छात्राओं से कहा था कि अगर वे परीक्षा में अच्छे नंबर चाहती हैं तो वर्कशॉप में हिस्सा लें। इस तरह की धार्मिक गतिविधि को परिसर में रोकने का कोई प्रयास नहीं किया गया जबकि स्कूल में अलग-अलग धर्मों के स्टूडेंट्स पढ़ते हैं।

साथ ही स्कूल की प्रिंसिपल ने विद्यार्थियों से कहा, ‘अगर वे जीवन में सफल होना चाहते हैं तो पूरी लगन से शिवलिंग बनाएं।’ इस दौरान स्कूल में एक पुजारी भी मौजूद थे जिन्होंने माइक पर संस्कृत मंत्रों का जप करके यज्ञ किया।

ख़बरों के मुताबिक, जब मुस्लिम विद्यार्थियों ने हिस्सा लेने से संकोच किया तो उन्हें कथित रूप से एक कमरे में बंद कर दिया गया। जब लड़कियों ने आगे विरोध किया तो उन्हें घर जाने के लिए कह दिया गया।

बताया जा रहा है कि, शिवलिंग बनाने की वर्कशॉप खत्म होने के बाद स्कूल में ही भंडारे का आयोजन भी किया गया। लेकिन यह कितना दुखद है कि देश के भविष्य माने जाने वाले छात्र-छात्राओं को वैज्ञानिक ज्ञान न देकर स्कूलों में धार्मिक कर्मकांड का आयोजन किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here