मोदी सरकार ने वापस ली रॉबर्ट वाड्रा की मां की VIP सुरक्षा

मोदी सरकार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की मां मॉरीन वाड्रा को मिल रहा वीआईपी सुरक्षा मंगलवार(16 मई) को हटा लिया है। बता दें कि इस मुद्दे पर पिछले काफी समय से विवाद चल रहा था। हाल ही में कांग्रेस ने मोदी सरकार से सफाई मांगी थी कि वाड्रा की मां को इतनी वीआईपी सुरक्षा क्यों दी जा रही है। कांग्रेस द्वारा सवाल उठाए जाने के बाद केंद्र सरकार ने आखिरकार सुरक्षा वापस ले ली है।

इस मामले पर पिछले दिनों कांग्रेस ने 10 मई को कहा था कि मोदी सरकार को स्पष्टीकरण देना चाहिए कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की मां को सुरक्षा क्यों मुहैया कराई जा रही है? विपक्षी दल ने कहा था कि राजग सरकार ने उद्योगपतियों, प्रभावी कॉरपोरेट दलालों और नेताओं सहित ‘दिलचस्प पृष्ठभूमि’ वाले लोगों को सुरक्षा मुहैया कराई है। पार्टी ने सरकार से ऐसे लोगों की सूची सार्वजनिक करने की मांग की थी।

कांग्रेस प्रवक्ता अजय कुमार ने कहा था कि यह बहुत दिलचस्प है कि श्रीमान मोदी 36 महीने से सरकार में हैं और ऐसे कई मौके आए होंगे जब वह सुरक्षा (वाड्रा की मां को मिली) घटा सकते थे। बता दें कि न्यू फ्रेंड्स कालोनी स्थित वाड्रा के आवास पर पिछले 13 वर्षाें से दिल्ली पुलिस के 6 कर्मी तैनात हैं, इस संबंध में आई खबरों पर किए गए सवालों का जवाब देते हुए कुमार ने उक्त बात कही थी। इस आवास में वाड्रा की मां मॉरीन वाड्रा रहती हैं।

कुमार ने सवाल किया था कि यदि कोई सुरक्षा कारण नहीं है, तो मोदी सरकार उनकी सुरक्षा क्यों जारी रखे हुए है। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि वे पता करें कि किन लोगों को सरकारी सुरक्षा मिली हुई है। क्या मोदी सरकार ‘तय प्रक्रिया के तहत’ लोगों को यह लाभ दे रही है।

अगले स्लाइड में पढ़ें, रॉबर्ट वाड्रा का मीडिया पर निशाना

Leave a Comment