पीएम मोदी पर भड़के मनीष सिसोदिया, कहा- ‘दिल्ली के बच्चो की शिक्षा में अड़चन खड़ी कर आप कौन सी देश भक्ति दिखाना चाहते हैं?’

1

दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने उनकी सलाहकार आतिशी मारलीना को उनके पद से हटाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला किया है। उन्होंने कहा कि, “अगर आप हमें शिक्षा में कुछ दे नही सकते तो जो हमारे लिए हो रहा है उसे रोकिये तो मत।” बत दें कि, आतिशी मार्लेना दिल्ली सरकार में शिक्षामंत्री की सलाहकार के पद पर कार्यरत थी।

गौरतलब है कि, मंगलवार को गृह-मंत्रालय के आदेश के बाद आतिशी मार्लेना को दिल्ली सरकार के सलाहकार पद से हटा दिया है। जिसके बाद मनीष सिसोदिया ने पीएम मोदी को एक खुला खत लिखकर कहा आतिशी मारलीना को हटाकर आपने दिल्ली के बच्चों के भविष्य पर चोट की है। अपने इस पत्र में जहां एक तरफ सिसोदिया ने शिक्षा को लेकर अपने कामकाज की तारीफ की है, तो केंद्र सरकार पर शिक्षा विभाग के खिलाफ साज़िश रचने का आरोप भी लगाया है।

सिसोदिया ने अपने खत में लिखा कि, आतिशी को उसके पद से हटाकर आपको क्या मिलेगा… संभव है कि आपके हमारे साथ राजनीतिक मतभेद हों, लेकिन इसका असर दिल्ली के बच्चों पर नहीं पड़ना चाहिए। उन्होंने अपनी सरकार की सराहना करते हुए लिखा कि, हम पिछले तीन सालों से राजधानी में काम कर रहे हैं और अपने बजट का 25 प्रतिशत शिक्षा पर खर्च करते हैं। ये सब कुछ आतिशी की मेहनत से ही संभव हुआ है।

वहीं, मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, “प्रधानमंत्री जी! आपकी सरकार ने एक झटके में जिस तरह दिल्ली में शिक्षा मंत्री की सलाहकार आतिशी मारलीना को हटाया उससे आप क्या हासिल करना चाहते हैं? दिल्ली के बच्चो की शिक्षा में अड़चन खड़ी कर आप कौन सी देश भक्ति दिखाना चाहते हैं?”

वहीं, उन्होंने एक और ट्वीट करते हुए लिखा कि, “प्रधानमंत्री जी! आप ध्यान-योग करते हैं, अबकी बार ध्यान में बैठे तो दिल्ली के बच्चों का ये सवाल ध्यान रखियेगा- “अगर आप हमें शिक्षा में कुछ दे नही सकते तो जो हमारे लिए हो रहा है उसे रोकिये तो मत।”

साथ ही उन्होंने लिखा कि, “प्रधानमंत्री जी! आपको मेरी बातों पर संदेह हो तो आप मेरे साथ, दिल्ली के सरकारी स्कूल देखने के लिए चलिए और देखिये बच्चों के स्कूल बनवाने पर उनके चेहरे पर कितनी खुशी दिखती है।”

वहीं उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि, “प्रधानमंत्री जी! मैं तो दो तिहाई राज्य का अदना सा शिक्षा मंत्री हूँ, फिर भी हमने दिल्ली में 8000 शानदार नए क्लासरूम बनवाए, 14 नए कॉलेज शुरू किए। आपका बड़प्पन तब होता जब आप पूरे देश मे 2 लाख नए क्लासरूम बनवाते, पूरे देश में 14000 नए कॉलेज खुलवाते।”

 

Previous articleYashwant Sinha snaps ties with BJP, takes political ‘sanyas’
Next articleबलात्‍कार की घटनाओं पर अमिताभ बच्चन के बयान से भड़कीं पूजा भट्ट ने दिखाया आईना, सुनाई खरी-खोटी