‘मोदी की पुलिस बनी गोदी की पुलिस?’, अभिषेक मिश्रा की गिरफ्तारी पर मध्य प्रदेश कांग्रेस ने केन्द्र सरकार पर बोला हमला, शिवराज ने किया पलटवार

0

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने छतरपुर निवासी सोशल मीडिया कार्यकर्ता और मशहूर यूट्यूबर अभिषेक मिश्रा को दिल्ली पुलिस द्वारा बिना स्थानीय पुलिस को सूचना दिए गिरफ्तार कर दिल्ली ले जाने पर कड़ी आपत्ति जताई है। साथ ही उन्होंने पुलिस की इस कार्रवाई को लेकर मोदी सरकार पर भी हमला बोला।

मध्य प्रदेश कांग्रेस के अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “पुलिस आई चोरों की तरह : अभिषेक मिश्रा को गिरफ्तार करने पुलिस चोरों की तरह आई, कानून को धता बताकर बलपूर्वक उठा ले गई। वैसे, अपहरण कैसे होता है..?
कुछ लोग आते है, बलपूर्वक उठाकर ले जाते हैं और फिर आका के अड्डे पर पहुँचने के बाद फोन करते हैं। मोदी की पुलिस बनी गोदी की पुलिस..?”

कांग्रेस के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लिखा, “वाह! अपनी ही ढफली, अपना ही राग! आपके एक अपराधी कार्यकर्ता को पुलिस ने गिरफ्तार भर कर लिया, आपने तो सारा आसमान ही सिर पर उठा लिया जबकि भाजपा के चार-चार कार्यकर्ताओं की दुष्टों ने सांसें ही छीन ली और आप की सरकार इससे पल्ला झाड़ रही है…”

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने एक गुप्त शिकायत के आधार पर सोशल मीडिया कार्यकर्ता और मशहूर यूट्यूबर अभिषेक मिश्रा को 22 जनवरी 2019 को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि अभिषेक सोशल मीडिया, फेसबुक, ट्वीटर और अपनी एक वेबसाइट के जरिए भड़काऊ पोस्ट, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली पोस्ट लिखते थे। इसके बाद उसकी गिरफ्तारी की गई है। साथ ही अभिषेक पर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ टिप्पणी करने का भी आरोप है।

अभिषेक मिश्रा खुद को यूट्यूबर होने के साथ-साथ सोशल मीडिया और आरटीआई कार्यकर्ता भी बताते हैं। अभिषेक सोशल मीडिया पर लगातार सक्रिय रहते हैं। काफी लंबे समय से अभिषेक यूट्यूब पर वीडियो बनाकर डालते हैं, जो कि काफी पॉपुलर रहते हैं। ट्विटर, फेसबुक पर भी वह लगातार केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और पूर्व में शिवराज सिंह चौहान की खुले तौर पर आलोचना करते रहे हैं। जिस वजह से उन्हें कांग्रेस समर्थक होने का भी आरोप लगता रहा है।

अभिषेक मिश्रा की गिरफ्तारी पर मध्य प्रदेश के गृह विभाग ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर आपत्ति दर्ज कराते हुए दिल्ली पुलिस की इस कार्यवाही को सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का उल्लंघन बताया है।

Previous articleSalman Khan in patriotic avatar wows fans in Bharat teaser on Republic Day eve
Next article…जब प्रियंका गांधी ने पत्रकारों से पूछा था- कौन हैं स्मृति ईरानी?, केंद्रीय मंत्री ने ऐसा किया था पलटवार