मोदी पर केजरीवाल के 7 बाण, नोटबंदी पर पहली बार खुलकर बोलें दिल्ली के मुख्यमंत्री

0

आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने पीएम मोदी पर जबरदस्त हमला बोलते हुए कई बड़े आरोप लगाए। उन्होंने अपने लम्बें भाषण में कई महत्वपूर्ण बिन्दुओं को छुआ जो उन सभी बातों की तरफ इशारा करती है जिससे पता चलता है कि बीजेपी के लोगों को नोटबंदी के फैसले की पहले से जानकारी थी।

janta ka reporter
केजरीवाल के अलावा सभी राष्ट्रीय पार्टिया इसे जनता के खिलाफ लिया हुआ फैसला बता रही है। ममता बनर्जी, मायावती, राहुल गांधी, अखिलेश यादव सहित शीर्ष नेतृत्व सहित सरकार की कड़ी आलोचना कर रहा है।
फिलहाल पीएम मोदी अपने जापान दौरे पर है। मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने 7 मुख्य बातें अपने भाषण में कहीं, जो इस प्रकार से है।
  • दो दिन पहले देश में भ्रष्टाचार कम करने के नाम पर असल में एक बहुत बडे स्तर पर घोटाले को अंजाम दिया जा रहा है।
  • बीजेपी ने अपने लोगों को नोटबंदी को लेकर पहले से ही आगाह कर दिया था।
  • पिछले तीन महिनों के बैंकों में हजारों करोड़ रुपये जमा कराए गए। बैंक में जमा कराई गई इतनी बड़ी रकम से शक पैदा होता है?
  • मोदी जी का सर्जिकल स्ट्राइक काला धन के ऊपर नहीं है बल्कि आम जनता के वर्षों से जुटाए गए मेहनत के पैसों पर स्ट्राइक है।
  • पिछली तिमाही से पहले बैंक जमा निगेटिव में था, उसमें कोई बढ़ोतरी नहीं देखी गई। लेकिन फिर यह अचानक से बढ़ गया। ऐसा कैसे हुआ?
  • जो अफरा-तफरी मची है, उससे किसी कालेधन का पता नहीं चलने वाला। इससे काले धन की बस जगह बदल जाएगी।
  • जान-बूझकर यह क्राइसिस पैदा की गई, जिससे लोग दौड़े-दौड़े सरकार के दलालों के पास भागें।
नोटबंदी के फैसले पर बोलते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे राष्ट्रीय आपदा कहा था, उन्होंने कहा था मोदी के इस फैसले से देश में अराजकता फैल गई है। इसके बाद मायावती ने मोदी के फैसले को तानाशाही और अंहकार से भरा हुआ बताया था।
जबकि भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी- (सीपीआई-एम) ने भी आरोप लगाते हुए कहा था कि नोट बैन किए जाने से पहले ही भारतीय जनता पार्टी ने करोड़ों रुपये काला से  सफेद में बदल लिए है।
Previous articleChaos grows, queues get longer at banks, ATMs on weekend
Next articleIndia recover after Virat Kohli, Rahane’s quick dismissals