जेटली मानहानि केस: केजरीवाल की याचिका पर हाई कोर्ट ने जेटली से मांगा जवाब

0

दिल्ली हाई कोर्ट ने मंगलवार(9 मई) को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की उस याचिका पर वित्त मंत्री अरुण जेटली से जवाब मांगा है, जिसमें उन्होंने बीजेपी नेता द्वारा दायर आपराधिक मानहानि मामले में निचली अदालत की उनके खिलाफ की गई टिप्पणी को हटाने की अपील की गई है।

फाइल फोटो: साभार

जेटली ने आपराधिक मानहानि की शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया है कि केजरीवाल के अलावा आशुतोष, कुमार विश्वास, संजय सिंह, राघव चड्ढा और दीपक बाजपेई ने दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) से जुड़े एक विवाद में उनकी मानहानि की थी। जेटली ने करीब एक दशक तक डीडीसीए का नेतृत्व किया था।

जेटली ने दिल्ली हाई कोर्ट में इन नेताओं के खिलाफ दीवानी मानहानि का मुकदमा भी दायर किया है और नुकसान की भरपाई के तौर पर 10 करोड़ रुपये की मांग की है। न्यायमूर्ति मुक्ता गुप्ता ने जेटली को मंगलवार को नोटिस जारी किया और निचली अदालत की टिप्पणी के खिलाफ केजरीवाल की याचिका के संबंध में उनका जवाब मांगा।अब हाई कोर्ट इस मामले पर 13 जुलाई को सुनवाई करेगा। बता दें कि इससे पहले निचली अदालत ने केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के पांच अन्य नेताओं की अर्जी खारिज करते हुए कहा था कि इसमें कोई दम नहीं है, यह बदनीयती और मुकदमे की सुनवाई रोकने के एकमात्र उद्देश्य से दायर की गई है।

निचली अदालत ने 30 जनवरी 2017 को उनकी अर्जी खारिज कर दी थी। दरअसल, केजरीवाल ने एक अन्य याचिका दायर की थी, जिसमें दावा किया था कि जेटली ने अपने आपराधिक मानहानि मामले में उन्हें और अन्य AAP नेताओं को जिन कथित बयानों के लिए जिम्मेदार ठहराया है, वे अपमानजनक नहीं थे।

केजरीवाल के वकीलों ने दलील दी थी कि जिन टिप्पणियों के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया गया था वे समाचार प्रकाशनों और सोशल मीडिया के उद्धरणों से ली गई थी। बहरहाल, केजरीवाल के वकील ने उन समाचार रिपोर्टों या सोशल मीडिया उदाहरणों को पेश नहीं किया। अदालत ने उन्हें उनकी याचिका के पक्ष में 22 मई तक दस्तावेज दायर करने का समय दिया।

क्या है पूरा मामला?

बता दें कि सीएम अरविंद केजरीवाल सहित आम आदमी पार्टी(आप) के नेताओं ने दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) में कथित तौर पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। आरोप लगाया है कि जब जेटली डीडीसीए के प्रमुख थे तब वह और उनका परिवार संस्था में आर्थिक कुप्रबंधन के लिए जिम्मेदार थे।

इन आरोपों के खिलाफ जेटली अदालत गए और केजरीवाल सहित आशुतोष, कुमार विश्वास, संजय सिंह, राधव चड्डा और दीपक वाजपेयी के खिलाफ 10 करोड़ रुपये का मानहानि दावा किया है। इसके अलावा उन्होंने पटियाला हाउस कोर्ट में इसी मामले में आपराधिक मानहानि का मामला भी दर्ज करवाया है।

Previous articleDigvijay Singh lauds BJP MLA who charged party leadership with graft
Next articleCBSE anti-cheating steps: Examiners booked, teachers suspended