निर्दलीय विधायक का बड़ा खुलासा, पुडुचेरी में कांग्रेस सरकार गिराने के लिए BJP ने की थी बड़ी धनराशि की पेशकश

0

केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के माहे विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक डॉ.वी. रामचंद्रन ने खुलासा किया है कि पुडुचेरी की कांग्रेस सरकार को गिराने में सहयोग देने पर उन्हें अपने निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए और साथ ही व्यक्तिगत रूप से सहयोग देने के लिए बड़ी धनराशि की पेशकश की गई थी।

पुडुचेरी

समाचार एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए, निर्दलीय विधायक डॉ.वी. रामचंद्रन ने कहा केंद्र की भाजपा सरकार ने पुडुचेरी की लोकतांत्रिक रूप से चुनी हुई सरकार को गिराने के लिए सभी हथकंडे अपनाए हैं। डॉ. वी. रामचंद्रन के मुताबिक भाजपा के वरिष्ठ राष्ट्रीय नेताओं ने इस ऑपरेशन का नेतृत्व करने के लिए पुदुचेरी में डेरा डाला था। उन्होंने बताया कि उन्हें उनके निर्वाचन क्षेत्र के विकास के साथ-साथ व्यक्तिगत रूप से भारी धन की पेशकश की गई थी, मगर उन्होंने स्पष्ट रूप से मना कर दिया था।

उन्होंने कहा इस तरह पैसे का उपयोग करना लोकतंत्र के लिए अभिशाप है, जो स्वीकार्य नहीं है। अफसोस की बात है कि कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व ने इसे रोकने के लिए कुछ नहीं किया और यह कांग्रेस पार्टी की विफलता भी है। उनका कहना है कि माहे से चुने जाने के बाद उन्हें अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों की सेवा करने की बहुत उम्मीदें थीं, लेकिन विकास गतिविधियों में सरकार का समर्थन नहीं था। उन्होंने इस पर अपनी नाराजगी खुलकर व्यक्त की थी। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि मैं कुछ पैसे के लिए भाजपा के नेतृत्व वाले मोर्चे का समर्थन करूंगा।

आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर उन्होंने कहा कि इन चुनावों में भाजपा उतना नहीं कर पाएगी, जितने जमीनी समर्थन की दरकार है। हालांकि, भाजपा कुछ शक्तिशाली समुदायों की पीठ पर सवारी करने की कोशिश कर रही है, ताकि सफलता मिल सके और राज्य पर शासन किया जा सके, जो मेरे अनुसार संभव नहीं है।

उन्होंने दावा करते हुए आगे कहा कि, राज्य की 30 फीसदी से अधिक आबादी वाले वन्नियार एक शक्तिशाली समुदाय हैं, जो मजबूत वन्नियार नेता हैं और अभी भी कांग्रेस पार्टी के साथ हैं। भाजपा पूरी कोशिश कर रही है कि वन्नियरों का पूरा समर्थन हासिल कर सके।

इसके साथ ही रामचंद्रन ने कहा कि, मैंने अभी तक यह तय नहीं किया है कि मैं अगला विधानसभा चुनाव लड़ रहा हूं या नहीं। पुडुचेरी में पावर गेम और वहां होने वाली हॉर्स ट्रेडिंग से मेरा मन खिन्न हो गया है।

Previous articleलोकतंत्र के विषय पर कॉर्नेल विश्वविद्यालय के छात्रों को संबोधित करेंगे कांग्रेस नेता राहुल गांधी
Next articleपीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ABVP का सूपड़ा साफ, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ छात्रसंघ चुनाव में NSUI ने लहराया झंडा