उत्तर प्रदेश में महिलाएं सुरक्षित नहीं! आगरा में मायके जा रही महिला से पति के सामने गैंगरेप, वीडियो बनाकर लूटे गहने और रुपये

0

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भले ही महिलाओं की सुरक्षा को लेकर लाख दावे करती हो, लेकिन हकीकत इससे काफी दूर है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था सवालों के घेरे में है। राज्य से रोज मासूम बच्चियों और महिलाएं से रेप व छेड़छाड़ की कोई न कोई घटनाएं सामने आती ही रहती है, जो चीख-चीखकर बता रही हैं कि यूपी में महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं है। इस बीच, आगरा से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जो देश को शर्मसार कर रहा है। यहां 3 लोगों ने महिला के पति के सामने ही उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। पीड़ित महिला की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरु कर दी हैं। महिला ने एत्मादपुर थाने में तहरीर दी है, जिसमें दो नामजद और एक अज्ञात युवक पर जंगल में ले जाकर गैंगरेप का आरोप लगाया।

आगरा
(Reuters File Photo)

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में एसपी ग्रामीण ने बताया कि महिला ने थाने में तहरीर दी है कि तीन लोगों ने उसके साथ गैंगरेप और लूटपाट की घटना को अंजाम दिया है। इस मामले पर एसपी आर ए वेस्ट सत्यजीत गुप्ता ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर सामूहिक दुष्कर्म, लूट और जान से मारने की धमकी की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है। पीड़िता को मेडिकल के लिए भेजा है। आरोपियों की गिफ्तारी के लिए टीम गठित कर दी गई है। आरोपी घरों पर नहीं मिले हैं, उन्हें जल्द से जल्द पकड़ लिया जाएगा।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसका मायका एत्माद्दौला इलाके में है और ससुराल एत्मादपुर है। सोमवार शाम 6 बजे के आसपास वो अपने पति के साथ बाइक पर मायके जा रही थी। इसी दौरान रास्ते में तीन युवकों ने उनका रास्ता रोक लिया, मारपीट करने के बाद जबरदस्ती वो हम दोनों को झाड़ियों में खींचकर ले गए। जहां उन्होंने हमारे कपड़े उतरवाए और पति के सामने ही एक के बाद एक ने रेप किया। इतना ही नहीं घटना का वीडियो भी बनाया। पीड़िता ने आरोप लगाया कि इस दौरान आरोपियों ने उनके पास से 10 हजार रुपये, कान के झुमके और सामान लूटकर फरार हो गए।

गैंगरेप की जानकारी होते ही सीओ अर्चना सिंह और एसपी ग्रामीण सत्यजीत गुप्ता थाने आए और मुकदमा दर्ज कर घटनास्थल का निरीक्षण किया पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है और जल्द से जल्द आरोपियों को पकड़ने का दावा कर रही है।

गौरतलब है कि, रेप के दोषियों के खिलाफ कड़े कानून बनने के बावजूद भी देश में महिलाओं और बच्चों के साथ बढ़ते अपराध कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here