छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री व BJP के कद्दावर नेता रजिंदर पाल सिंह भाटिया ने की खुदकुशी, अपने घर में लगाई फांसी

छत्तीसगढ़ के पूर्व परिवहन मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता राजिंदर पाल सिंह भाटिया का शव रविवार को राजनांदगांव जिले में स्थित उनके आवास पर फंदे से लटका मिला। पुलिस को संदेह है कि यह आत्महत्या का मामला हो सकता है। घटना की जानकारी मिलते ही सियासी गलियारे में हड़कंप मच गया है। वहीं, कारणों का खुलासा अभी तक नहीं हुआ है।

राजिंदर पाल सिंह भाटिया
फाइल फोटो

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 72 वर्षीय भाटिया का शव छुरिया स्थित उनके आवास पर लटका पाया गया। पुलिस ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है कि घटनास्थल से सुसाइड नोट मिला है या नहीं। घटना की जानकारी मिलते ही सियासी गलियारे में हड़कंप मच गया है। वहीं, कारणों का खुलासा अभी तक नहीं हुआ है।

भाजपा नेताओं के अनुसार, इस साल मार्च में भाटिया कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गए थे और ठीक होने के बाद भी उनकी सेहत अच्छी नहीं थी। भाटिया की गिनती प्रदेश में बीजेपी के कद्दावर नेताओं के रूप में होती थी।

वह भाजपा के शासन काल में औद्योगिक विकास निगम के अध्यक्ष भी थे। वह राजनांदगांव के खुज्जी से चुनाव जीतते थे। भाटिया तीन बार विधायक रहे हैं। पुलिस तमाम पहलुओं से मामले की जांच कर रही है।

रमन सिंह सरकार के पहले कार्यकाल में रजिंदरपाल सिंह भाटिया को मंत्री पद दिया गया था। बाद में उन्हें मंत्री पद से हटाया गया और सीएसआईडीसी के चेयरमैन बना दिया गया था। (इंपुट: भाषा के साथ)

Leave a Comment