असम विधानसभा चुनाव: BJP उम्मीदवार की कार में मिली EVM मशीन, वीडियो वायरल; कांग्रेस नेताओं ने की चुनाव आयोग से जांच की मांग

0

असम में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के खत्म होते ही गुरुवार को एक वीडियो सोशल मीडिया पर छा गया, जिसको लेकर अब विवाद खड़ा हो गया हैं। दरअसल, असम मे मतदान के बाद एक निजी कार से ईवीएम पाएं जाने का वीडियो सामने आया है, जो अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा हैं। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि कार के अंदर ईवीएम मशीन रखी हुई हैं। यह वीडियो सामने आने के बाद प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाकर वीडियो की जांच कराने की मांग की है।

असम विधानसभा चुनाव

सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल रहे वीडियो में असम के पथरकंडी विधानसभा क्षेत्र में सफेद रंग की बोलेरो कार में EVM मिली हैं। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि यह कार पथरकंडी सीट के वर्तमान विधायक और भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल की है। यह वीडियो सामने आने के बाद प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाकर इसे बेहद गंभीर मामला बताते हुए चुनाव आयोग से जांच की मांग की है।

यह वीडियो पत्रकार अतानु भूयन ने अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया जिसके कैप्शन में उन्होंने लिखा पथरकंडी से भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल की कार से ईवीएम मिलने के बाद स्थिति तनावपूर्ण है। वीडियो में दिख रहा है कि सफेद रंग की जीप (जिसका नंबर AS 10B 0022 है) के अंदर ईवीएम देखी जा रही है। वीडियो में लोग यह कहते सुने जा रहे हैं कि जीप कृष्णेंदु पॉल की है। देखते ही देखते कई कांग्रेस नेताओं ने इसे शेयर करके भाजपा पर निशाना साधा।

असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने ईवीएम मिलने की घटना पर चुनाव आयोग से इस मामले में तुरंत कार्रवाही करने की मांग की है। इसके अलावा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने भी ट्वीट कर चुनाव आयोग से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘हर बार ऐसे वीडियो सामने आते हैं जिनमें प्राइवेट गाड़ियों में ईवीएम ले जाते हुए पकड़े जाते हैं। अप्रत्याशित रूप से उनमें कुछ चीजें कॉमन होती है- गाड़ियां भाजपा उम्मीदवार या उनके साथियों से जुड़ी होती हैं। वीडियो एक घटना के रूप में सामने आते हैं और फिर झूठ बताकर खारिज कर दिया जाता है।’

प्रियंका ने आगे लिखा, ‘भाजपा अपनी मीडिया मशीनरी का इस्तेमाल करके उन्हें ही आरोपी ठहरा देती है जिन्होंने वीडियो एक्सपोज किए। फैक्ट यह है कि ऐसे कई सारी घटनाएं रिपोर्ट की जा रही हैं लेकिन इन पर कुछ नहीं किया जा रहा है। चुनाव आयोग को इन शिकायतों पर निर्णायक रूप से कार्रवाई शुरू करने की आवश्यकता है और सभी राष्ट्रीय दलों को ईवीएम के इस्तेमाल की जरूरतों पर एक गंभीर पुनर्मूल्यांकन करना चाहिए।’

शशि थरूर ने ट्वीट किया, ‘यह काफी चौंकाने वाला है। भारत की लोकतांत्रिक संस्कृति में आलोचकों का भी मानना है कि कम से कम चुनाव मुक्त और निष्पक्ष हों लेकिन हम चुनावी निरंकुश बन चुके हैं। अगर ईवीएम ही संदिग्ध हो जाए तो बचा क्या? चुनाव आयोग को इस पर तुरंत सार्वजनिक जांच करानी चाहिए।’

असम से कांग्रेस सांसद प्रद्युत बोरदलोई ने ट्वीट किया, ‘भाजपा अनुशासित रूप से यह स्वीकार क्यों नहीं कर पा रही है कि वे असम चुनाव हार रहे हैं। ईवीएम चोरी करना और रिजल्ट में हेराफेरी आपके लिए अच्छा नहीं है। अगर चुनाव आयोग ने आपको माफ कर भी दिया तो भी असम कभी इसके लिए क्षमा नहीं करेगा।’

असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने ट्वीट करके कहा, “हम उम्मीद करते हैं कि चुनाव आयोग तत्काल कार्रवाई करेगा। बताएगा कि ऐसा कैसे हो सकता है। ईवीएम की खुली लूट और धांधली पर तुरंत रोक नहीं लगी तो कांग्रेस पार्टी चुनाव का बहिष्कार करने पर विचार करेगी।”

कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने अपने ट्वीट में लिखा, “सिर्फ इसी रास्ते से भाजपा असम जीत सकती है- ईवीएम लूटकर। ईवीएम कैप्चरिंग, जैसे बूथ कैप्चरिंग हुआ करती थी। यह सब चुनाव आयोग की नाक के नीचे हो रहा है। लोकतंत्र के लिए दुखद दिन।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here