“मोदी जी, हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दिया?”: यह पोस्टर चिपकाने पर दिल्ली पुलिस ने 25 लोगों को किया गिरफ्तार, 25 FIR दर्ज

0

दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस (कोविड-19) रोधी टीकाकरण अभियान के संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आलोचनात्मक टिप्पणियों वाले पोस्टर कथित तौर पर चिपकाने के मामले में 25 प्राथमिकी दर्ज कीं और 25 लोगों को गिरफ्तार किया है।

दिल्ली पुलिस

समाचार एजेंसी पीटीआई (भाषा) की रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि ये पोस्टर शहर के कई हिस्सों में लगाए गए। इनमें लिखा था, “मोदी जी हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दी?” उन्होंने बताया कि गुरुवार को पुलिस को पोस्टरों के बारे में सूचना मिली जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों को सतर्क किया गया। शिकायतों के आधार पर दिल्ली पुलिस ने लोक सेवक द्वारा जारी आदेश की अवज्ञा करने से संबंधित भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत विभिन्न जिलों में 25 प्राथमिकी दर्ज कीं।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “अगर इस संबंध में और शिकायतें मिलती हैं तो प्राथमिकी दर्ज की जा सकती है। फिलहाल यह पता लगाने के लिए जांच चल रही है कि किसके कहने पर शहर के विभिन्न स्थानों पर ये पोस्टर लगाए गए और इसके मुताबिक ही मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।”

पुलिस ने बताया कि तीन प्राथमिकर उत्तरपूर्वी दिल्ली में दर्ज की गई और वहां से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। तीन प्राथमिकी पश्चिम दिल्ली में दर्ज की गयीं और वहां से पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया जबकि तीन प्राथमिकी बाहरी दिल्ली में दर्ज की गईं और वहां से तीन लोगों को हिरासत में लिया गया। राजधानी के उत्तर-पश्चिम इलाके में इस मामले में चार प्राथमिकी दर्ज की गयीं और दो लोगों को गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि शहर के मध्य हिस्से में दो प्राथमिकी दर्ज की गईं और चार लोगों को गिरफ्तार किया गया। दो प्राथमिकी रोहिणी में दर्ज की गईं और दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि एक प्राथमिकी पूर्वी दिल्ली में दर्ज की गई और चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एक प्राथमिकी द्वारका में दर्ज की गई और दो लोगों को गिरफ्तार किया गया। दक्षिणी दिल्ली में भी इस मामले में दो प्राथमिकी दर्ज की गयीं।

पुलिस ने बताया कि एक प्राथमिकी उत्तरी दिल्ली में दर्ज की गई और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि इस व्यक्ति ने दावा किया है कि उसे तीन पोस्टर चिपकाने के लिए 500 रुपये दिए गए। एक अन्य मामला शाहदरा में दर्ज किया गया, जहां पुलिस ने घटना की सीसीटीवी फुटेज बरामद की और इस घटना में शामिल लोगों को पकड़ने की कोशिश की।

Previous articleकांग्रेस के राज्यसभा सांसद राजीव सातव का निधन, कोरोना संक्रमित होने के बाद अस्पताल में चल रहा था इलाज
Next articleपंजाब: कांस्टेबल ने बीच सड़क पर रेहड़ी से चुराए अंडे, वीडियो वायरल होने पर हुए सस्पेंड