तालिबान से बातचीत करने वाली मोदी सरकार देश के किसानों से बात क्यों नहीं कर सकती?, कांग्रेस का केंद्र पर निशाना

0

कांग्रेस ने हरियाणा के करनाल में प्रदर्शनकारी किसानों पर पानी की बौछार किये जाने की निंदा करते हुए मंगलवार को कहा कि तालिबान के साथ बातचीत करने वाली नरेंद्र मोदी सरकार देश के किसानों से बातचीत क्यों नहीं कर सकती।

फाइल फोटो

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से यह आग्रह भी किया कि वह किसानों को बातचीत के लिए बुलाएं और तीनों काले कानूनों को निरस्त करने की घोषणा करें। उन्होंने कहा, ‘केंद्र और हरियणा की भाजपा सरकारें 10 महीने से गांधीवादी तरीके से आंदोलनरत किसानों को जानबूझकर भड़काने, भिड़वाने और लड़वाने की साजिश कर रही हैं। ये साजिश केवल यहीं तक सीमित नहीं है, बल्कि जवानों और किसानों को लड़वाने की भी साजिश है। करनाल में हजारों किसानों पर पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया गया, लेकिन किसानों ने अपना संयम नहीं खोया।’

सुरजेवाला ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए सवाल किया, ‘मोदी जी, आप दोहा (कतर) में तालिबान से बात कर सकते हैं, तो फिर आप दिल्ली की सीमा पर 10 महीने से बैठे अन्नदाताओं से बात क्यों नहीं कर सकते? ये सत्ता का अहंकार किसलिए है?’ उन्होंने दावा किया, ‘किसान अपनी फसल और अगली नस्ल बचाना चाहता है, लेकिन मोदी जी अपने वित्तपोषक कारोबारियों की तिजोरी भरना चाहते हैं। यह लड़ाई देश बचाने की है ताकि मोदी सरकार ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह देश को गुलाम नहीं बना सके।’

कांग्रेस महासचिव ने आग्रह किया, ‘नरेंद्र मोदी जी, सब कार्य बंद करके देश के किसानों को बातचीत के लिए बुलाएं। खुद बात करें और तीनों काले कानून आज रात ही खत्म करने की घोषणा करें।’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने भी करनाल में किसानों के आंदोलन का समर्थन किया। उन्होंने मंगलवार को किसानो को प्रदर्शन के तस्वीरे ट्वीट करते हुए लिखा, ‘जहां हर-हर अन्नदाता, घर-घर अन्नदाता, वहां किस-किस को रोकोगे? (इंपुट: भाषा के साथ)

Previous articleमध्य प्रदेश: इंद्र देवता को प्रसन्न करने के लिए मासूम बच्चियों से करवाई गई निर्वस्त्र परेड, मामले की जांच शुरू
Next article#BJPInsultsMaaDurga ahead of assembly by-poll in Kolkata after BJP registers complaint with Election Commission