मध्य प्रदेश: कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया का कोरोना वायरस से निधन; सीएम शिवराज सिंह चौहान, कमलनाथ सहित कई नेताओं ने जताया शोक

0

मध्य प्रदेश की कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया की शनिवार तड़के एक निजी अस्पताल में कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज के दौरान मौत हो गई। वह 49 वर्ष की थीं। निधन की सूचना मिलने के बाद उनके क्षेत्र में शोक की लहर छा गई है। कलावती भूरिया के निधन पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, सांसद दिग्विजय सिंह सहित कई वरिष्ठ नेताओं ने दुख जताया है।

कलावती भूरिया

समाचार एजेंसी पीटीआई (भाषा) की रिपोर्ट के मुताबिक, पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया पिछले 12 दिन से इंदौर के शैल्बी अस्पताल में भर्ती थीं। वह विधानसभा में अलीराजपुर जिले के जोबट क्षेत्र की नुमाइंदगी करती थीं।

शैल्बी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक विवेक जोशी ने बताया कि भूरिया के फेफड़ों में 70 प्रतिशत से ज्यादा संक्रमण था। जोशी ने बताया कि भूरिया को जीवन रक्षक तंत्र पर भी रखा गया था। लेकिन उनकी हालत लगातार बिगड़ती चली गई और उनकी जान नहीं बचाई जा सकी।

कलावती भूरिया के निधन पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर दुख जताया है। शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्वीट में लिखा, “प्रदेश के जोबट क्षेत्र की लोकप्रिय विधायक श्रीमती कलावती भूरिया जी के निधन का अत्यंत दुखद समाचार मिला। वे आमजन के हितों की रक्षा के लिए तत्पर रहने वाली मिलनसार व मृदुभाषी विधायक थीं। ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान और परिजनों को संबल दें। विनम्र श्रद्धांजलि!”

कलावती भूरिया के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भी दुख जताया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “प्रदेश के जोबट क्षेत्र की विधायक कलावती भूरिया के दुखद निधन का समाचार बेहद व्यथित व स्तब्ध करने वाला है। वे एक सक्रिय, दबंग, जुझारू, मिलनसार विधायक थी। अपने क्षेत्र की जनता के प्रति उनका विशेष लगाव था और उनके हितो के लिये सदैव संघर्ष रत रहती थी।”

उन्होंने अपने ट्वीट में आगे कहा, “उनका दुखद निधन पूरे कांग्रेस परिवार और मेरे लिये भी एक़ बड़ी क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।”

दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, “जोबट की विधायक कलावती के दुखद निधन के समाचार सुन कर बेहद दुख हुआ। कलावती झाबूआ अलीराजपुर आदीवासी क्षेत्रों में कॉंग्रेस की स्तंभ रही। अनेको बार जिला परिषद की निर्वाचित अध्यक्ष रहीं। हमारे पारिवारिक रिश्ते रहे। मुझे निजी क्षति हुई है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें।”

भूरिया, पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कांतिलाल भूरिया की भतीजी थीं। वह वर्ष 2018 के विधानसभा चुनावों में जीत हासिल कर अपने राजनीतिक करियर में पहली बार विधायक बनी थीं।

Previous articleदिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में ऑक्सिजन की कमी से 20 मरीजों की मौत, 200 से अधिक जिंदगियां खतरे में
Next articleउत्तर प्रदेश: BJP विधायक सुरेश श्रीवास्तव का कोरोना वायरस से निधन, एक ही दिन में दूसरे MLA की गई जान; सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने जताया दुख