‘टाइम्स नाउ नवभारत’ के एंकर सुशांत सिन्हा के ट्विटर पोल में पंजाब में कांग्रेस को मिला बहुमत, जमकर हुए ट्रोल

0

टाइम्स नाउ ग्रुप के नए हिंदी समाचार चैनल ‘टाइम्स नाउ नवभारत’ के एंकर सुशांत सिन्हा ने पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर एक पोल किया। इस पोल का रिजल्ट आने के बाद सुशांत सिन्हा सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए, यूजर्स उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे है।

सुशांत सिन्हा
फाइल फोटो

दरअसल, सुशांत सिन्हा ने हाल ही में अपने ट्विटर पर लिखा, “पंजाब चुनाव के नतीजे क्या रह सकते हैं?” उनके इस पोल में आम आदमी पार्टी को 9.5%, कैप्टन + बीजेपी को 35.5%, कांग्रेस को 47.7% और हंग असेंबली को 7.3% समर्थन वोट मिला। इस पोल में 1 लाख 22 हजार 92 लोगों ने हिस्सा लिया था।

बता दें कि, सुशांत सिन्हा के इस पोल में पंजाब में सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस को सबसे ज्यादा समर्थन मिलता दिखाई दे रहा है। ज्यादा तर लोगों ने कांग्रेस के समर्थन में वोट किया है।

अपने इस पोल के नतीजों को लेकर सुशांत सोशल मीडिया यूजर्स के निशाना पर आ गए। आम ट्विटर यूजर्स के साथ-साथ कांग्रेस नेताओं ने भी इस पर चुटकी ली है।

एक यूजर ने लिखा, “करवा ली बेइज्जती, इस बार चैक नही मिलेगा अब।” एक अन्य ने लिखा, क्यों बार बार जलील होते हो… चैन की नींद क्यूँ नहीं सोते हो ??” एक अन्य यूजर ने लिखा, “नौकरी जा सकती है आपकी ऐसे polls मत किया करो। जनता को अब बीजेपी नही चाहिए।”

एक अन्य ने लिखा, “पोल के नतीजे देख, यह दलाल का इस महीने का इंसेंटिव जरूर कट होगा।” बता दें कि, इसी तरह तमाम यूजर्स एंकर के इस पोल पर जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

देखें कुछ ऐसे ही ट्वीट:

बता दें कि, पंजाब में अगले साल फरवरी-मार्च में चुनाव होने हैं। इसी दौरान उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में भी चुनाव होंगे। भाजपा ने ऐलान किया था कि वह कांग्रेस के पूर्व नेता अमरिंदर सिंह और सुखदेव सिंह ढींडसा की शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के साथ मिलकर पंजाब विधानसभा का चुनाव लड़ेंगी।

[Please join our Telegram group to stay up to date about news items published by Janta Ka Reporter]

Previous articleउत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले अखिलेश यादव को बड़ा झटका, समाजवादी पार्टी के छह पार्षद कांग्रेस में हुए शामिल
Next articleSachin Tendulkar’s son Arjun Tendulkar selected for Mumbai Ranji team: Chief Selector Salim Ankola explains reasons amidst nepotism charge