छत्तीसगढ़: स्थानीय पत्रकार का दावा- मुझे नक्सलियों के दो कॉल आए, बोल रहे थे- 1 जवान उनके कब्जे में है 2 दिन बाद रिहा कर दिया जाएगा

0

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शनिवार को तर्रेम क्षेत्र के जीरागुडेम गांव के पास नक्सलियों द्वारा किए गए हमले में 22 जवान शहीद हो गए। वहीं, कई नक्सली भी मारे गए। उस मुठभेड़ के बाद से ही CRPF के कमांडो राकेश्वर लापता हैं। ऐसा दावा किया जा रहा है कि राकेश्वर को नक्सलियों ने अगवा किया है। इस बीच, छत्तीसगढ़ के एक स्थानीय पत्रकार ने नक्सलियों से हुई अपनी बातचीत को लेकर बड़ा दावा किया है।

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के स्थानीय पत्रकार गणेश मिश्रा ने समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए दावा किया कि, “मुझे नक्सलियों से दो फोन आए कि एक जवान उनकी हिरासत में है। उन्होंने मुझे बताया कि मुठभेंड़ के दौरान जवान को गोली लगी थीं। उसे ट्रीटमेंट दिया है और अगले 2 दिनों में उसे रिहा कर दिया जाएगा।” पत्रकार के मुताबिक, नक्सलियों ने यह भी कहा कि जवान का एक वीडियो और फोटो जल्द ही जारी किया जाएगा।

जम्मू के रहने वाले कमांडो राकेश्वर CRPF की उस टुकड़ी का हिस्सा थे, जिसके साथ शनिवार को बीजापुर में नक्सलियों की मुठभेड़ हुई थी। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, नक्सलियों ने राकेश्वर को पांच दिनों से अपने कब्जे में रखा है और वो अभी सुरक्षित हैं। जवान का परिवार सरकार से गुहार लगा रहा है कि किसी भी तरह से राकेश्वर की सकुशल और जल्दी वापसी कराई जाए।

Previous articleVIDEO: इंदौर में मास्क नहीं पहनने पर दो पुलिसकर्मियों ने शख्स को बीच सड़क पर लात-घूंसों से जमकर पीटा
Next articleबिहार: थाना परिसर में ही गले में फंदा लगाकर 23 वर्षीय महिला कांस्टेबल ने की आत्महत्या, पुलिस विभाग में मचा हड़कंप