इंडिया टुडे के पत्रकार का वीडियो जारी कर BJP ने बताया पश्चिम बंगाल हिंसा का मृतक, रिपोर्टर ने ट्वीट कर कहा- “मैं अभी जिंदा हूं”

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद हुई हिंसा में अपने कार्यकर्ताओं के मारे जाने का दावा करते हुए शेयर किए गए वीडियो में एक पत्रकार की तस्वीर के गलत इस्तेमाल पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) घिर गई है। पश्चिम बंगाल भाजपा की तरफ से एक वीडियो जारी किया गया जिसमें मृतक के रूप में जिसका फोटो लगाया गया वो इंडिया टूडे में काम करने वाले अभ्रो बनर्जी थे। अभ्रो बनर्जी को जब इसकी सूचना मिली तो उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं अभी जिंदा हूं। यह गलती सामने आने के बाद भाजपा आईटी सेल ने वीडियो को डिलीट कर दिया।

पश्चिम बंगाल

दरअसल, पश्चिम बंगाल भाजपा ने 5 मई को अपने फेसबुक और ट्विटर पेज पर एक वीडियो शेयर किया था। इस वीडियो में भाजपा ने दावा किया कि माणिक मोइत्रा नाम का एक आदमी कूच बिहार जिले के सीतलकुची में हिंसा के दौरान मारा गया। लेकिन भाजपा के इस वीडियो में माणिक मोइत्रा के लिए जिस आदमी की तस्वीर इस्तेमाल की गई, वो इंडिया टुडे ग्रुप के पत्रकार हैं और उनका नाम अभ्रो बनर्जी है।

यह गलती सामने आने के बाद भाजपा आईटी सेल ने वीडियो को डिलीट कर दिया। लेकिन वीडियो का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे है, इसके साथ ही लोग भाजपा पर जमकर निशाना साध रहे है। लोगों ने कहा कि भाजपा फेक न्यूज़ फैला रही है। वहीं, टीएमसी ने भाजपा पर फेक न्यूज के जरिए हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है। यही नहीं खुद अभ्रो बनर्जी ने एक ट्वीट कर कहा कि उनकी तस्वीर का भाजपा आईटी सेल की ओर से गलत इस्तेमाल किया जा रहा है।

पत्रकार अभ्रो बनर्जी ने भाजपा पर तंज कस्ते हुए अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर लिखा, “मैं अभ्रो बनर्जी हूँ, ज़िंदा हूँ और स्वस्थ्य हूँ। और मैं सिताल्कुची से 1,300 किलोमीटर दूर हूं। भाजपा आईटी सेल अब दावा कर रही है कि मैं माणिक मोइत्रा हूँ, और सिताल्कुची में मेरी मौत हुई है। कृपया इन फ़र्ज़ी पोस्टों पर विश्वास न करें और चिंता न करें। मैं दोहराता हूं: मैं (अभी भी) जीवित हूं।”

इस ट्वीट के साथ ही अभ्रो ने बंगाल बीजेपी के पेज से शेयर हुए वीडियो का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है, जिसमें उनकी तस्वीर दिख रही है।

‘आज तक’ न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए संबित पात्रा ने माना कि यह बीजेपी आईटी सेल की गलती है। उन्होंने कहा कि हमारे कार्यकर्ता मानिक मोइत्रा की हिंसा में मौत हुई है, लेकिन गलती से अभ्रो बनर्जी की तस्वीर इस्तेमाल हो गई। संबित पात्रा ने कहा कि बंगाल में हिंसा में 6 लोगों के मारे जाने को लेकर अभ्रो बनर्जी ने एक रिपोर्ट लिखी थी। उस आर्टिकल के संदर्भ का वीडियो में इस्तेमाल किया गया था और गलती से मानिक मोइत्रा के स्थान पर उनकी तस्वीर लग गई।

Leave a Comment