भोपाल: युवक के साथ स्कूटी पर सवार लड़की का भीड़ ने जबरन उतरवाया बुर्का, वीडियो वायरल

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शनिवार को लोगों के एक समूह द्वारा एक युवती को बुर्का हटाने के लिए मजबूर किया गया, क्योंकि लोगों को संदेह था कि वह एक हिंदू व्यक्ति के स्कूटर के पीछे बैठी है। इस घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसकी सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना की जा रही है।

भोपाल

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस्लाम नगर में हुई घटना के संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला एक पुरुष के साथ स्कूटर पर पीछे बैठी हुई थी, तभी कुछ लोगों ने उन्हें भोपाल के इस्लाम नगर में एक संकरी गली में रोक दिया और उससे हिजाब उतारने को कहा।

वीडियो में समूह का एक व्यक्ति, जो स्पष्ट रूप से वीडियो शूट कर रहा है। उसे लड़की को यह कहते हुए सुना जाता है कि उसका कार्य उसके समुदाय को अपमानित कर रहा है, युवती वीडियो में रोती हुई दिख रही है। जबकि कुछ महिलाओं को उसे अपना चेहरा दिखाने के लिए मजबूर करने की कोशिश करते देखा जा सकता है।

वायरल वीडियो में दिख रहा है कि पीड़ित युवती पहले बुर्का हटाने से इनकार करती है लेकिन उसके सहयात्री के समझाने पर वह सरेआम बुर्का उतारती है। इसके बाद लोग उसे हिजाब हटाकर चेहरा दिखाने को कह रहे हैं और उसकी वीडियो भी बना रहे हैं। शुरुआत में लड़की ने विरोध किया तो कुछ महिलाएं जबरन उसका चेहरा देखने की कोशिश करती हैं। हालांकि, वह अपने सहयात्री लड़के से सटकर अपना चेहरा छिपा लेती है।

ईंटखेड़ी पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक आरएस वर्मा ने समाचार एजेंसी पीटीआई (भाषा) को बताया, ‘‘दोपहर में एक युवक और लड़की इस्लाम नगर पहुंचे। कुछ लोगों ने उन्हें रोका और लड़की से बुर्का हटाने और अपना चेहरा दिखाने को कहा। लोगों का मानना था कि वह आदमी हिंदू और लड़की मुस्लिम थी।’’

उन्होंने कहा कि युवक और लड़की के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है लेकिन वीडियो में देखे गए दो लोगों के खिलाफ भादंवि की धारा 151 के तहत निवारक कार्रवाई की गई तथा उन्हें इस तरह की हरकत नहीं करने की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया।

पिछले महीने, बेंगलुरू में नैतिक पुलिसिंग के एक मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था, जब एक वीडियो में उन्हें एक बैंक कर्मचारी के साथ मारपीट करते हुए दिखाया गया था, क्योंकि एक मुस्लिम महिला सहयोगी ने अपनी मोटरसाइकिल पर पीछे की सवारी की थी।

Leave a Comment