BJP के बाद अब पाक खुफिया एजेंसी ISI के भोजपुरी फिल्म कनेक्शन का खुलासा, अभिनेता सहित तीन गिरफ्तार

0

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े तीन लोगों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इन तीनों के संबंध घोड़ासन रेल हादसे की साजिश रचने में कथित तौर पर आईएसआई की मदद करने का आरोप है।

एनआईए के मुताबिक, इन तीनों को फिल्म बनाने के लिए पैसे की जरूरत थी, जिसके लिए ये आईएसआई के लिए जासूसी का काम करने लगे। गौरतलब है कि गत वर्ष एक अक्टूबर को बिहार के घोड़ासन में रेलवे ट्रेक के पास से एक आईईडी बरामद किया गया था। जिसके तार क्षेत्रीय और भोजपुरी फिल्म उद्योग में काम करने वाले लोगों से जुड़े थे।

इंडिया टुडे में छपी खबर के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम मुकेश यादव, गजेंद्र शर्मा और ब्रजकिशोर गिरी है। जिनमें मुकेश यादव भोजपुरी फिल्मों का अभिनेता और निर्माता भी है। उसने अपने फिल्मी सपनों को पूरा करने के लिए ही इस खौफनाक साजिश में आईएसआई का साथ दिया।

वहीं, ब्रजकिशोर गिरी का नेपाल में अपना बॉलीवुड स्टूडियो है। जबकि, गजेंद्र शर्मा का बिहार में एक स्टूडियो है और इसके अलावा कई और भी काम करता है। एनआईए के मुताबिक, भारत के पूर्वी इलाकों और नेपाल में अपने फिल्मी प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए इन लोगों ने भयानक ट्रेन हादसों को अंजाम देने में पाक खुफिया एजेंसी की मदद की।

बता दें कि इससे पहले एटीएस ने मध्यप्रदेश में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज चलाने वाले आईएसआई के 11 संदिग्धों को गिरफ्तार किया था। उनमें से एक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की आईटी सेल का सदस्य ध्रुव सक्सेना भी शामिल था। यह इस सेल का पदाधिकारी भी रहा है।

हालांकि, किरकिरी होते देख बीजेपी ने ध्रुव से किनारा करते हुए उसका पार्टी से कोई संबंध होने से इंकार किया है। हालांकि, ध्रुव के माता-पिता और पड़ोसियों का भी कहना है कि ध्रुव भाजपा के साथ जुड़ा हुआ था। यहां तक कि उसकी एक तस्वीर भी सोशल मीडिया में खुब वायरल हुआ था, जिसमें वह एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान के साथ मंच पर खड़ा दिखाई दे रहा है।

 

 

 

 

Previous articleDelhi’s 2005 serial blasts didn’t just kill 67 people, two Kashmiri Muslims were victims too
Next articleUP polls: Why voter number 141 unlikely to keep date with Lucknow