अजय माकन बोले- ‘मोदी जैसे राक्षस को खड़ा करने वाले अरविंद केजरीवाल के साथ गठबंधन का सवाल ही नहीं’

0

अगले साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रोकने के लिए दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) कांग्रेस से गठजोड़ करने को व्याकुल दिख रही है। लेकिन कांग्रेस ने आप के साथ किसी भी तालमेल की बात को खारिज कर दिया है। आम चुनाव में दिल्ली में आप और कांग्रेस के बीच संभावित गठबंधन की अटकलों को खारिज करते हुए दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि अन्ना आंदोलन के जरिए ‘मोदी जैसे राक्षस को खड़ा करने वाले’ अरविंद केजरीवाल के साथ हाथ मिलाने का सवाल ही नहीं उठता है। उन्होंने कहा कि मोदी नाम के राक्षस को केजरीवाल ने ही पैदा किया है।

अजय माकन ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में चार से पांच बार पीएम मोदी को राक्षस कहकर संबोधित किया। उन्होंने कहा कि 2012-13 अन्ना आंदोलन में किरण बेदी, बाबा रामदेव, जनरल वी. के. सिंह के साथ, आरएसएस और बीजेपी की बैकिंग के साथ मोदी नाम के इस राक्षस को खड़ा किसी ने किया है तो उसका नाम अरविंद केजरीवाल है। कांग्रेस नेता ने कहा कि वे लोग सेक्युलर अलायंस कर सकते हैं, लेकिन उन लोगों के साथ अलायंस कैसे कर सकते हैं, जिनके बारे में दिल्ली कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है कि इन्होंने मोदी जैसे राक्षस को खड़ा किया है।

माकन ने कहा कि उस आंदोलन में सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस को बदनाम किया गया। अजय माकन ने आरोप लगाया कि अन्ना आंदोलन में बी. एस. येदियुरप्पा, प्रेम कुमार धूमल, प्रकाश सिंह बादल पर कोई हमला नहीं हुआ। सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस को निशाना बनाया गया और नुकसान पहुंचाया गया। ऐसे में कांग्रेस कार्यकर्ता और लीडर किसी भी सूरत में नहीं चाहते हैं कि दिल्ली में समझौता हो।

माकन ने यह भी दावा किया कि जनता अब केजरीवाल को नकार रही है और दिल्ली में कांग्रेस को वापस लाना चाह रही है। उन्होंने कहा, ‘दिल्ली के कांग्रेस कार्यकर्ता और सभी नेता यह बिल्कुल नहीं चाहते कि केजरीवाल की पार्टी के साथ किसी तरह का गठबंधन हो। इसकी कुछ वजह हैं. पहली वजह है कि यह है केजरीवाल की लोकप्रियता में लगातार गिरावट आ रही है और जनता अब उनको नकार चुकी है।’

उन्होंने कहा, ‘दूसरी वजह यह है कि 2011 में केजरीवाल ने बाबा रामदेव, किरण बेदी, आरएसएस और भाजपा के साथ मिलकर कांग्रेस को नुकसान पहुंचाया और मोदी नाम के इस राक्षस को खड़ा किया। ऐसे में केजरीवाल के साथ गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता है।’

माकन ने कहा, ‘विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को 56 फीसदी वोट मिले थे और नगर निगम चुनाव में उसे सिर्फ 26 फीसदी वोट मिले। दूसरी तरफ कांग्रेस का वोट नौ फीसदी से बढ़कर 22 फीसदी पर पहुंच गया है।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। राजौरी गार्डन और बवाना विधानसभा के उपचुनावों में हमने देखा कि आप के वोट में काफी गिरावट आई है। माकन ने आरोप लगाया, ‘दिल्ली के लोग बिजली और पानी से संबंधित समस्या से परेशान हैं। दिल्ली में 10वीं और 12वीं कक्षा के इस बार के परिणाम सबसे कम रहे हैं। लोग इनसे परेशान हो चुके हैं।

Previous articleMHT CET Results 2018: DTE Maharashtra to declare Common Entrance Test results @ dtemaharashtra.gov.in
Next articleजम्‍मू-कश्‍मीर: पाकिस्तान ने फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, BSF के 2 जवान शहीद