ADR की रिपोर्ट में खुलास- हरियाणा के चुने गए 90 में से 84 विधायक करोड़पति, 12 पर आपराधिक मामले

0

हरियाणा विधानसभा चुनाव के नतीजों में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बहुमत से दूर रहने के बाद राज्य में सियासी घमासान जारी है। इस बीच, चुनाव निगरानी संस्था ‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’ (एडीआर) के एक विश्लेषण में कहा गया है कि हरियाणा के नवनिर्वाचित 90 विधायकों में से 84 विधायक करोड़पति हैं। एडीआर रिपोर्ट के अनुसार, निवर्तमान विधानसभा में 90 में से 75 विधायकों की संपत्ति एक करोड़ रुपये से अधिक थी। इसका मतलब है कि यहां करोड़पति विधायकों की संख्या में 10 फीसदी का इजाफा हुआ है।

हरियाणा

रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा में प्रति मौजूदा विधायकों की संपत्ति का औसत 18.29 करोड़ रुपये है जबकि वर्ष 2014 में यह 12.97 करोड़ रुपये था। एडीआर के विश्लेषण के अनुसार बीजेपी के निर्वाचित 40 में से 37 विधायक और कांग्रेस के 31 में से 29 विधायक करोड़पति हैं। वहीं, दुष्यंत चौटाला की जन नायक जनता पार्टी (जेजेपी) के निर्वाचित 10 विधायक सबसे अमीर हैं। इनकी औसत संपत्ति 25.26 करोड़ रुपये है। रिपोर्ट के अनुसार कुल विधायकों में से 57 विधायकों की उम्र 41 से 50 वर्ष के बीच है, 62 विधायकों के पास स्नातक या उससे ऊपर की डिग्री है।

रिपोर्ट के अनुसार, 90 विधायकों में से 12 पर आपराधिक मामले चल रहे हैं जबकि निवर्तमान विधानसभा में ऐसे विधायकों की संख्या नौ है। इसके अनुसार आपराधिक मामलों का सामना कर रहे निर्वाचित विधायकों में से चार कांग्रेस से, दो बीजेपी से और एक जेजेपी से हैं।

गौरतलब है कि, हरियाणा में भाजपा ने जहां 75 पार का नारा दिया था उसे जनता ने झटका देते हुए 90 में से 40 सीटें दिलाई हैं जो पिछली बार की तुलना में 7 कम हैं। निर्दलीय विधायकों के साथ भाजपा हरियाणा में दोबारा सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है। हरियाणा में विधानसभा चुनाव के बाद सिरसा सीट से जीते हरियाणा लोकहित पार्टी के उम्मीदवार गोपाल कांडा ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को समर्थन देने की बात कही है। वहीं, भाजपा राज्य में सरकार बनाने का ऐलान भी कर चुकी है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हरियाणा में 6 निर्दलीय विधायक भाजपा को समर्थन देने को तैयार हैं। अगर ये समर्थन भाजपा को हासिल हो जाता है तो सरकार बनाने के लिए जेजेपी के समर्थन की ज़रूरत नहीं होगी। गोपाल कांडा (सिरसा), चौधरी रणजीत चौटाला (रानिया), राकेश दौलताबाद (बादशाहपुर), नयनपाल रावत (पृथला), सोपबीर सांगवान (दादरी) बलराज कुंडू (महम) भाजपा को समर्थन देने को तैयार हैं। (इंपुट: भाषा के साथ)

Previous article“We did it PAPPA”: Actor Riteish Deshmukh’s moving post leaves Twitterati in tears, evokes reactions from Abhishek Bachchan, Anil Kapoor, Rishi Kapoor
Next article“पापा हमने कर दिखाया”, भाइयों की जीत पर रितेश देशमुख का इमोशनल ट्वीट हुआ वायरल, अभिषेक बच्चन, अनिल कपूर, ऋषि कपूर सहित कई अभिनेताओं ने दी प्रतिक्रियाएं