दिल्ली विधानसभा चुनाव नतीजे: कांग्रेस के 63 प्रत्याशियों की जमानत जब्त, लिस्ट में इन दिग्गजों का नाम शामिल

0

दिल्ली विधानसभा चुनाव में लोगों ने आम आदमी पार्टी (आप) को एक बार फिर बड़ा जनादेश दिया और इसके साथ ही उन नेताओं तथा उम्मीदवारों को खारिज कर दिया जिन्होंने इस चुनाव के दौरान अथवा इससे पहले विवादित बयान दिए थे। वहीं, इस चुनाव में कांग्रेस ने अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन किया है और कुल हुए मतदान में से पार्टी को पांच फीसदी से भी कम वोट मिले हैं। कांग्रेस के 63 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है।

पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के नेतृत्व में दिल्ली में 15 साल तक शासन करने वाली कांग्रेस लगातार दूसरी बार विधानसभा चुनाव में एक भी सीट जीतने में नाकाम रही है। पार्टी के तीन उम्मीदवार- गांधी नगर से अरविंदर सिंह लवली, बादली से देवेंद्र यादव और कस्तूरबा नगर से अभिषेक दत्त- ही अपनी जमानत बचा पाए हैं।

गौरतलब है कि, यदि किसी उम्मीदवार को निर्वाचन क्षेत्र में डाले गए कुल वैध मतों का छठा भाग नहीं मिलता है, तो उसकी जमानत जब्त हो जाती है। कांग्रेस के अधिकतर प्रत्याशियों को पांच प्रतिशत से भी कम वोट मिले हैं।

दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा की बेटी शिवानी चोपड़ा की कालकाजी सीट से जमानत जब्त हो गई। विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष योगानंद शास्त्री की बेटी प्रियंका सिंह की भी जमानत जब्त हो गई है। कांग्रेस प्रचार समिति के अध्यक्ष कीर्ति आज़ाद की पत्नी पूनम आजाद भी संगम विहार से अपनी जमानत नहीं बचा पाईं। उन्हें केवल 2,604 वोट यानी मात्र 2.23 फीसदी वोट ही मिले।

वहीं, दिल्ली में कांग्रेस के सबसे दिग्गज नेताओं में शुमार हारून महज चार फीसदी वोट ही हासिल कर सके। हारून यूसुफ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं। गौरतलब है कि हारून यूसुफ बल्लीमारान से चार बार विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं। वह शीला दीक्षित के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार में लगातार खाद्य एवं आपूर्ति व उद्योग मंत्रालय संभाल चुके हैं। (इंपुट: भाषा के साथ)

Previous articleTwitter says ‘Siddharth Shukla exposed’ after former Bigg Boss winner Shilpa Shinde makes grave allegations of biases
Next articleWar between Bigg Boss and The Kapil Sharma Show as Siddharth Shukla called ‘jerk’ by Archana Puran Singh, Samir Soni questions ‘class’