मध्य प्रदेश: कोरोना लॉकडाउन के बीच शिवराज मंत्रिमंडल में 5 मंत्रियों ने ली शपथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों को भी मिली जगह

कोरोना लॉकडाउन के बीच मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का मंगलवार (21 अप्रैल) को गठन हो गया। राजभवन में आयोजित समारोह में राज्यपाल लालजी टंडन ने सादे समारोह में पांच मंत्रियों को मंत्री पद की शपथ दिलाई। शपथ लेने वाले मंत्रियों में दो सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक हैं।

मध्य प्रदेश

राजभवन में आयोजित समारोह में शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल टंडन ने पांच नेताओं नरोत्तम मिश्रा, तुलसीराम सिलावट, कमल पटेल, गोविंद सिंह राजपूत और मीना सिंह को कैबिनेट मंत्री पद की शपथ दिलाई। शपथ लेने वालों में सिंधिया समर्थक सिलावट और राजपूत भी हैं। इन दोनों ने 22 विधायकों के साथ कांग्रेस छोड़ी थी और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया था।

शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ अन्य भाजपा नेता भी मौजूद रहे। भाजपा के कई बड़े नेता जो मंत्री पद के दावेदार हैं, वे शपथ ग्रहण से पहले भोपाल में थे मगर सूची में नाम न आने पर अपने अपने क्षेत्रों को लौट गए। लिहाजा शपथ ग्रहण में भी वे नहीं पहुंचे।

मंत्रिमंडल गठन में क्षेत्र के प्रतिनिधित्व का ध्यान रखा गया है। नरोत्तम मिश्रा का ग्वालियर-चंबल से नाता है, तुलसी सिलावट मालवा से हैं, गोविंद राजपूत बुंदेलखंड से हैं, मीना सिंह महाकौशल और विंध्य और कमल पटेल निमांड इलाके से आते हैं। साथ ही जातीय समीकरण को भी महत्व दिया जा रहा है।

बता दें कि, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद की शपथ 23 मार्च को ली थी। वर्तमान में राज्य कोरोना महामारी से जूझ रहा है। इसी के चलते छोटे मंत्रिमंडल का गठन हुआ है। मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस से करीब 74 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, राज्य में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 1500 के करीब पहुंच गई है। (इंपुट: आईएएनएस के साथ)

Leave a Comment