चीन में दो विस्फोटों से 44 की मौत, 400 घायल

0

चीन के उत्तरी बंदरगाह शहर तियानजिन के गोदाम में कथित रूप से ज्वलनशील और विस्फोटक पदार्थों के कारण हुए दो विस्फोटों में कम से कम 44 लोगों की मौत हो गयी और 400 से अधिक लोग घायल हो गये जिनमें से 32 की हालत गंभीर है. रईहाई गोदाम में स्थानीय समयानुसार बुधबार रात 11 बजकर 20 मिनट पर विस्फोट हुये. इससे आधे घंटे पहले यहां आग लगने की सूचना मिली थी.

बताया जा रहा है की इस गोदाम में खतरनाक सामग्री रखी हुई थी. सरकार संचालित संवाद समिति शिन्हुआ ने बताया कि बचावकर्ताओं के अनुसार विस्फोट के बाद आग के गोले उठे और उनके कारण निकटवर्ती कंपनियों में भी विस्फोट हुए. आधिकारिक समाचार पत्र पीपुल्स डेली ने ऑनलाइन बताया कि ये विस्फोट गोदाम में रखी ज्वलनशील और विस्फोटक सामग्री के कारण हुए.

टेलीविजन की आधिकारिक सीसीटीवी फुटेज में शहर में जोरदार विस्फोट होते दिखाई दिये. बताया गया है कि निकतवर्ती इलाकों से 10,000 से अधिक लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है. संवाद समिति ने बताया कि इस घटना में 44 लोगों की मौत हो गयी और 400 से अधिक लोग घायल हुये हैं. इनमें से 32 की हालत गंभीर बतायी जा रही है.

टीवी रिपोर्ट में कहा गया है कि आग पर अभी काबू नहीं पाया जा सका है क्योंकि दमकलकर्मी रसायनों की मौजूदगी के कारण आग को नियंत्रित करने के लिए पानी का प्रयोग नहीं कर सकते. साथ ही घटनास्थल पर अब भी आग लगी हुई है और वहां से काफी धुआं निकल रहा है. दमकलकर्मी आग बुझाने के लिए रेत और अन्य सामग्री का प्रयोग कर रहे हैं.

इन सब के बीच विस्फोट स्थल पर लोग अब भी फंसे हुये हैं और बचाव अभियान अब भी जारी है. घायलों को निकट के कई अस्पतालों में भेजा गया है. अस्पताल में करीब 150 लोगों को भर्ती कराया गया है.

इस विस्फोट के कारण बिनहाई न्यू एरिया और तियानजिन को जोडने वाले जिनबिन लाइट रेलवे के दांगहाई रोड टर्मिनल स्टेशन के शटर और खिडकियों के शीशे टूट गये. इसकी छत भी आंशिक रूप से ढह गई. विस्फोट के काबू में आने के तत्काल बाद कुछ टैक्सी चालक और निजी कारों के मालिकों ने घायलों को अस्पतालों में पहुंचाने में मदद की. कुछ होटलों ने विस्फोटों में विस्थापित निवासियों को मुफ्त आवास मुहैया कराया है. इस बीच चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री ली क्विंग ने तियानजिन विस्फोट के घायलों को बचाने के लिए हरसंभव प्रयास करने के निर्देश दिये हैं.

LEAVE A REPLY