राजधानी में नशे के खिलाफ आवाज उठाने वालों का अंजाम देखकर सिहर उठी दिल्ली, वीडियो हुआ वायरल

0

देश की राजधानी में नशे का कारोबार अपने चरम पर है। लाखों-करोड़ो के इस कारोबार के खिलाफ आवाज उठाने वालों को नंगा करके घसीटा जा रहा है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल की पहल पर ऐसे गुप्त ठिकानों का पर्दाफाश किया जा रहा है जिसकी कीमत भी इन कार्यकर्ताओं और इन माफियाओं के खिलाफ बोलने वालों को चुकानी पड़ रही है।

ताजा मामले में NCR के नरेला में अवैध शराब के गिरोह का भांडाफोड़ करने में दिल्ली महिला आयोग की मदद करने वाली महिला के साथ काफी बुरा व्यवहार किया गया है। नरेला में रहने वाली 33 साल की एक महिला की भीड़ ने लोहे की रॉड से बुरी तरह पिटाई की और उसके कपड़े भी फाड़ दिए।

बुधवार रात को जब 33 वर्षीय महिला प्रवीन दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष को लेकर आउटर दिल्ली में शराब के ठिकानों पर छापेमारी करने पहुंची तो उसके बाद से ही वह लोगों के निशाने पर थी। गुरुवार को लोगों ने महिला की बुरी तरह से पिटाई कर दी।

बुधवार रात डीसीडब्ल्यू चीफ स्वाति मालीवाल और उनकी टीम ने ‘फाइट द फीयर’ नाम के कैंपेन के तहत रात को नरेला में छापेमारी की। प्रवीन उन्हें नरेला पॉकेट 11 के एक घर में ले गई, जो आशा और राकेश का है। यहां से 350 शराब की बोतलें बरामद की गईं।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का कहना है कि गुरुवार को सुबह 11 बजे प्रवीन को उसके घर से बाहर निकालकर लोहे की छड़ों से पीटा गया। उसके कपड़े फाड़ दिए गए और नग्न कर परेड कराई गई। उन्होंने अपने फेसबुक पर लिखा कि घर घर में शराब गांजा बिक रहा है। पूरी दिल्ली नशे में डूबी है। छोटे छोटे बच्चे चपेट में है। ये लाखों करोड़ों का बिज़नेस सिस्टम के सरक्षण से चलता है। मुझे धमकी मिलने के बाद शुभचिन्तक बोल रहे है कि इस दलदल में मत पड़ो। जी हम तो लड़ेंगे, अगर आप देश के शुभचिंतक हैं तो साथ में लड़ें।

DCW के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ”यह बेहद शर्मनाक है कि एेसी घटना राजधानी में हुई। मैं एलजी से गुजारिश करता हूं कि मामले में हस्तक्षेप कर स्थानीय पुलिसवालों पर कार्रवाई करें”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here