जानिए कैसे होगा, कल लांच होने वाला विंडोज 10

0

दुनिया भर के कंप्यूटर्स पर एकछत्र राज कर रही माइक्रोसॉफ्ट बुधवार यानी 29 जुलाई को दुनिया के 190 देशों में 111 भाषाओं में विंडोज-10 जारी करने जा रही है।

नई पीढ़ी के विंडोज-10 को माइक्रोसॉफ्ट पूरे धूम-धड़ाके से लॉन्च करने की तैयारी है। पिछले दो महीनों से इसके प्रचार के लिए पूरी दुनिया में अभियान चलाये गए| कंपनी का दावा है कि नया ऑपरेटिंग सॉफ्टवेयर कंप्यूटर इस्तेमाल के तरीके में क्रांतिकारी बदलाव लाएगा। माइक्रोसॉफ्ट के लिए महत्वपूर्ण बाजार भारत उन 13 देशों में शामिल है, जहां कंपनी बड़े समारोह आयोजित करेगी। भारतीय मूल के नडेला का फरवरी 2014 में माइक्रोसॉफ्ट का सीईओ बनने के बाद से विंडोज-10 पहला प्रमुख प्रॉडक्ट है। इसे पेश करने के लिए नई दिल्ली के साथ सिडनी, टोक्यो, सिंगापुर, बीजिंग, दुबई, नैरोबी, बर्लिन, जोहानिसबर्ग, मेड्रिड, लंदन, साओ पाउलो और न्यूयॉर्क में कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

विंडोज 10 में क्या है यूनीक
माइक्रोसॉफ्ट का यह पहला ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम है जो एक साथ कंप्यूटर, टैब्लेट, स्मार्टफोन्स, एक्सबॉक्स वन, होलोलेंस और सरफेस हब आदि के लिए आया है। इसके 7 वर्जन आएंगे जो अलग-अलग काम के लिए बनाए गए हैं।

 1. विंडोज 10 होम : यह आम उपभोक्ता के लिए डेस्कटॉप एडिशन है जिसमें माइक्रोसॉफ्ट की तकनीक वाला डिजिटल कोर्टाना ब्राउजर और कई ऐप्स हैं।
2. विंडोज 10 मोबाइल : यह मोबाइल फोन एडिशन है जो छोटी स्क्रीन के लिए शानदार है। इसमें यूनिवर्सल ऐप्स हैं। इसके अलावा एमएस ऑफिस का नया टच एडिशन दिया गया है।
3. विंडोज 10 प्रो : यह छोटे बिजनेस वालों के लिए है जो कंप्यूटर, टैब्लेट्स और 2 इन 1 गैजट्स पर काम करते हैं।
4. विंडोज 10 एंटरप्राइजेज : यह मझले और बड़े आकार के संगठनों के लिए बनाया गया है। संवेदनशील बिजनेस के लिए इसमें ज्यादा सुरक्षा वाले फीचर्स हैं।
5. विंडोज 10 एजुकेशन : यह स्कूल स्टाफ, ऐडमिनिस्ट्रेटर्स, टीचर्स और स्टूडेंट्स के लिए लाया गया है।
6. विंडोज 10 मोबाइल एंटरप्राइजेज : यह मोबाइल पर बिजनेस करने वालों के लिए खासतौर से तैयार किया गया है। शानदार सिक्यॉरिटी फीचर्स और डिवाइस मैनेजमेंट से लैस यह एडिशन बिजनेसमेन को ज्यादा अच्छा अनुभव देगा।
7. विंडोज 10 आईओटी कोर : यह एटीएम मशीनों, रीटेल पॉइंट वाले गैजट्स, हैंडहेल्ड टर्मिनल्स, इंडस्ट्रियल रोबॉटिक्स और कम कीमत वाली डिवाइसेज के लिए लाया गया है।
किसे मिलेगा अपग्रेड
माइक्रोसॉफ्ट के अनुसार, उनकी ओर से पहली बार ऑपरेटिंग सिस्टम का लेटेस्ट वर्जन मुफ्त अपग्रेड के तौर पर उपलब्ध होगा। इस फ्री अपग्रेड की पेशकश विंडोज 7 और 8 और 8.1 उपकरणों के लिए होगी यानी जो यूजर्स विंडोज के 7, 8 या 8.1 ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल कर रहे हैं, वे इसे इसकी लॉन्च डेट 29 जुलाई से एक साल के अंदर फ्री में अपग्रेड कर सकेंगे। विंडोज XP, 2000, 2001 या Vista आदि के लिए यह अपग्रेड उपलब्ध नहीं है।

Also Read:  UP man gets funds for sister's wedding from PMO

कैसे करें अपग्रेड
1.सिस्टम चेक करें

अपग्रेड करने से पहले यह देख लें कि आपके कंप्यूटर का प्रोसेसर 1 GHz या उससे ज्यादा गति का हो, रैम 32-bit वाले कंप्यूटर के लिए 1 जीबी और 64-bit वाले के लिए 2 जीबी हो, हार्ड डिस्क में कम-से-कम 20 जीबी की जगह खाली हो, WDDM ड्राइवर के साथ माइक्रोसॉफ्ट DirectX 9 ग्राफिक्स डिवाइस हो और माइक्रोसॉफ्ट में एक अकाउंट हो। इंटरनेट तो चाहिए ही। इस अपग्रेड को पूरा होने में एक घंटे से ज्यादा का समय लग सकता है।

Congress advt 2

2. यह है तरीका
– सबसे आसान तरीका है कि आप अपने कंप्यूटर के टास्क बार में इस निशान को देखें।
– इस निशान पर क्लिक करें, सामने आई स्क्रीन पर Reserve your free upgrade पर क्लिक करें। अपना ई-मेल आईडी डालें। अब 29 जुलाई के बाद आपका कंप्यूटर अपने आप ही अपडेट हो जाएगा। ज़रूरत पड़ने पर वहां आते निर्देशों का पालन कीजिए।
– अगर 29 जुलाई के पहले आपका मन बदल जाए या किसी तरह की शंका हो तो उसी टास्क बार वाले विंडोज निशान पर राइट क्लिक करें। Check your upgrade status पर क्लिक करें। सामने दिख रही स्क्रीन पर Cancel Reservation पर क्लिक कर दें।
– यह सिर्फ एक साल तक के लिए फ्री होगा और उसके बाद लगने वाली फीस के बारे में अभी कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है। एक साल के बाद आपको फीस देनी ही होगी।
– अगर आप यूं अपग्रेड नहीं करना चाह रहे तो माइक्रोसॉफ्ट से खरीदें। इसके तमाम एडिशन 120 से 200 डॉलर्स के बीच उपलब्ध हैं। अगर खरीद रहे हैं तो हमेशा के लिए झंझट खत्म।
– पहले विंडोज 7 और विंडोज 8 के पाइरेटेड वर्जन वालों को भी मुफ्त में नए विंडोज से अपग्रेडेशन सुविधा देने की बात कही गई थी, लेकिन अब कंपनी का कहना है कि इसका फायदा सिर्फ ऑरिजनल विंडोज 7, विंडोज 8 और विंडोज 8.1 का इस्तेमाल कर रहे लोगों को ही मिलेगा।

क्या होंगे खास फीचर्स
– विंडोज 10 को माइक्रोसॉफ्ट का अंतिम ऑपरेटिंग सिस्टम बताया जा रहा है। इस नए ओएस में ढेरों नए फीचर्स होंगे। इनमें कोर्टाना, कीबोर्ड-माउस से चलने वाले पीसी के अलावा टच ओरियंटेड टैब्लेट भी होगा। इसके अलावा यूजर्स अपने चेहरे और अंगुलियों के निशान से भी लॉगइन कर पाएंगे। बाकी फीचर्स की बात करें तो इसमें फ्रेश ऑफिस वर्जन, गेमर्स के लिए इम्प्रूव्ड सपोर्ट, नया बिल्ट इन फोटो, मैप, म्यूजिक और दूसरे ऐप हैं।
– विंडोज 10, विंडोज फोन और विंडोज टैब्लेट के साथ आसानी से सिंक्रनाइज किया जा सकता है। इसे दूसरी पोर्टेबल हाइब्रिड डिवाइसेस से भी कनेक्ट किया जा सकता है। यूजर्स मनपसंद तरीके से यूजर इंटरफेस की स्क्रीन को ऐडजस्ट कर सकेंगे। इसका सबसे ज्यादा फायदा टैब्लेट यूजर्स को महसूस होगा।
– डेस्कटॉप का स्टार्ट मेन्यू दो कॉलम में बंटा है, जिसमें पुरानी शैली के आइकन तो हैं ही, साथ ही नए प्रोग्राम्स की टाइल भी दिखाई देंगी। ये टाइल्स कस्टमाइज की जा सकेंगी। – विंडोज स्टोर से डाउनलोड किए गए सभी ऐप डेस्कटॉप पर भी चलाए जा सकेंगे।
– ऑपरेटिंग सिस्टम एक्स और लाइनक्स की खासियत रहा वर्चुअल डेस्कटॉप अब विंडोज में भी उपलब्ध रहेगा।
– विंडोज 10 मोबाइल में अडवांस कॉन्टिनम तकनीक का उपयोग किया गया है, जिससे इसे पर्सनल कम्प्यूटर की तरह इस्तेमाल किया जा सकेगा। यहां तक कि इसे बड़ी स्क्रीन में कनेक्ट करके प्रोजेक्टर की तरह भी उपयोग किया जा सकेगा। इस फीचर की वजह से आप अपने विंडोज मोबाइल को टीवी से भी कनेक्ट कर सकेंगे और कीबोर्ड व माउस भी जोड़ा जा सकेगा।
– माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 10 के साथ कोर्टाना भी लॉन्च किया है। यह पर्सनल असिस्टेंस प्रोग्राम अपने आप में बेहतरीन अनुभव है।
– विंडोज 10 का डिजाइन ऑफिस वर्कर्स को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। नए वर्जन में विंडोज 8 की खामियों को हटाया गया है।

Also Read:  US says does not support independence for Balochistan

क्या नहीं मिलेगा
– आम उपभोक्ता की नजर से देखें तो विंडोज 10 में सबसे बड़ी कमी होगी Windows Media Centre का ना होना। इस बार यह फीचर हटा लिया गया है।
– अब तक इस विंडोज मीडिया सेंटर की मदद से विंडोज 7 या 8 ओएस वाले कंप्यूटर्स पर ट्यूनर कार्ड लगाकर टीवी के कई चैनल्स देखे जा सकते हैं और मीडिया प्लेयर को फुल स्क्रीन में देखा जा सकता है।
– वर्चुअल असिस्टेंट प्रोग्राम कोर्टाना भी सिर्फ अमेरिका, यूके, फ्रांस, इटली, जर्मनी और स्पेन में ही मिलेगा, हालांकि अपडेशन के दूसरे चरण में यह बाकी देशों में भी उपलब्ध कराया जा सकता है।
– विंडोज हेलो (बायोमीट्रिक पासवर्ड के लिए उपयोगी) का उपयोग करने के लिए भी आपको इंफ्रारेड कैमरा और फिंगरप्रिंट रीडर की जरूरत पड़ेगी।
– एक्सबॉक्स म्यूजिक और एक्सबॉक्स विडियो का इस्तेमाल करने के लिए आपको स्ट्रीमिंग ऐप की जरूरत पड़ेगी। इसके लिए आपके विंडोज में रीजन आधारित लाइसेंस होना जरूरी है।
क्या आप जानते हैं
क्या आपको पता है कि माइक्रोसॉफ्ट ने इस वर्जन का नाम विंडोज 9 न रखते हुए 10 क्यों रखा? बकौल कंपनी इस वर्जन में बहुत ज्यादा बदलाव और नए कॉन्सेप्ट्स का इस्तेमाल किया गया है। विंडोज 10 के बीटा वर्जन और फुल वर्जन की लॉन्चिंग के बीच काफी वक्त होने की वजह से इसे 9वें वर्जन का नाम नहीं दिया गया है।

Also Read:  Microsoft launches local data centres in Tamil Nadu and Maharashtra

बदल जाएंगे शॉर्टकट
विंडोज 98, विंडोज 2000, विंडोज एक्सपी, विंडोज 7 और 8 में लगभग एक जैसे कीबोर्ड शॉर्टकट इस्तेमाल किए जाते हैं। लेकिन विंडोज 10 में ये बदल जाएंगे यानी 29 जुलाई को ऑपरेटिंग सिस्टम अपडेट करने वालों को अब नए कीबोर्ड शॉर्टकट सीखना होगा। जो इस तरह हैं :
– विंडोज स्क्रीन को लेफ्ट स्नैप करने के लिए : Windows Key+Left
– विंडोज स्क्रीन को राइट स्नैप करने के लिए : Windows Key+Right
– विंडो मैक्सिमाइज करने के लिए : Windows key+Up
– विंडो को मिनिमाइज करने के लिए : Windows key+Down
– पिछले वर्चुअल डेस्कटॉप पर जाने के लिए : Windows key+Ctrl+Left

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here